29.1 C
Delhi
Homeबिहारशिवहरशिवहर : द्वितीय अपील में भी वादी को न्याय नहीं मिला तो...

शिवहर : द्वितीय अपील में भी वादी को न्याय नहीं मिला तो डीपीओ आईसीडीएस के खिलाफ धरने पर बैठेंगे : संजय संघर्ष सिंह

- Advertisement -

शिवहर (13 जुलाई 2021 ) रंजीत मिश्रा : पुरनहिया प्रखंड अंतर्गत बसंत जगजीवन मुशहरी वार्ड- 11 आंगनवाड़ी बहाली में अनियमितता के खिलाफ द्वितीय अपील जिला प्रोग्राम पदाधिकारी आईसीडीएस के पास लंबित है। अगर न्याय नहीं मिला तो आंदोलन करेंगे।

बताया है कि डीपीओ और सीडीपीओ दोनों पद पर एक ही अधिकारी होने के कारण पिछले 4 महीने से फाइल बस उसी टेबल पर घूम रही है। कदाचार का आलम यह है की प्रथम अभ्यर्थी के दावा वापस लेने के बाद दूसरे की जगह तृतीय को कर दिया गया है।

अपील के समय सभी तथ्य मजबूत रहने के बाद भी अपील को खारिज कर दिया गया सीडीपीओ के रूप में, अब वही अधिकारी डीपीओ भी है और पिछली डेट पर ही सुनवाई कंप्लीट हो गई थी लेकिन जानबूझकर 14 जुलाई का डेट दिया गया है। पूर्व विधानसभा प्रत्याशी संजय संघर्ष सिंह ने खेद जताया है। तथा बताया है कि बात केवल खेद की नहीं है द्वितीय अपील में भी न्याय ना मिलने उपरांत अनिश्चितकालीन धरना पर बैठने की प्लानिंग है। जिले में आईसीडीएस के अंदर व्याप्त कदाचार के खिलाफ मोर्चा खोलने की तैयारी है।

संजय संघर्ष सिंह के अनुसार पूरे जिले में तमाम आंगनबाड़ी बहाली हो या संचालन में कदाचार अब मोर्चा खोला जाएगा।
परमिशन ना मिलने की स्थिति में भी संवैधानिक तरीके से आंदोलन प्रारंभ किया जाएगा। चाहे जेल तक जाना क्यों नाहो, आईसीडीएस का यह कदाचार का खेल बंद करना ही होगा। संजय संघर्ष सिंह ने आवाह्नन किया है कि आओ आंगनवाड़ी का शुद्धीकरण करें। आईसीडीएस को कदाचार मुक्त करें। ज्ञात हो कि अदौरी खोरी पाकर पुल निर्माण हेतु संघर्षरत संकल्प की दाढ़ी बढ़ाने वाले संजय संघर्ष सिंह अपने संघर्ष एवं आंदोलन के तरीकों के लिए जाने ही जाते हैं।

वही डीपीओ आईसीडीएस सुचेता कुमारी ने सभी बातों का खंडन किया है कहा है कि सीडीपीओ के समक्ष सुनवाई हो चुकी है। डीपीओ के यहा मामला लंबित है, लेकिन संजय संघर्ष सिंह के द्वारा जबरन फोन कर धमकी दिया जाता है ,परेशान किया जाता है। जो नियम है उसी के अनुसार बहाली की जाएगी।

यह भी पढ़े…

- Advertisement -



- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -