नेपाल के जलेश्वर में विश्व परिषद परिक्रमा का भव्य स्वागत, श्रद्धालुओं की उमड़ी भीड़

सीतामढ़ी/रविशंकर सिंहः भारत नेपाल सीमा के सुरसंड से सटे पड़ोसी देश नेपाल के जलेश्वर में भारत नेपाल में प्रसिद्ध 133 किलोमीटर लंबी पैदल यात्रा का मिथिला परिक्रमा बुधवार को जलेश्वर में पहुंचे। यह परिक्रमा जनकपुर से 13 मार्च को शुरू हुआ।


जो भारतीय क्षेत्र में रविवार को कलेश्वर सोमवार को फुलहर गिरजा स्थान मंगलवार को मटिहानी नेपाल होते हुए बुधवार को जलेश्वर में विश्राम किया जहां 1997 में स्थापित स्वर्गीय परशुराम शाह मिथिला परिक्रमा एवं जनकपुर स्थित राम जानकी मंदिर धर्म संस्था द्वारा भव्य स्वागत किया गया।

स्वागत में गाजा बाजा के साथ साथ संस्था के अध्यक्ष रेनू देवी के साथ सचिव गोपाल शाह के अगुवाई में क्षेत्र के विधायक रवि शंकर तिवारी, मेयर शंकर साही, उप प्रमुख मुनचुन देवी के साथ किशोरी जी के डोला का भागेश्वर कुटी से बैनर झंडा के साथ परिक्रमा में शामिल होकर विश्राम स्थल तक पहुंचे।

परिक्रमा में पहुंचे साधु संतों का भी भव्य रूप से स्वागत भी किया गया। परिक्रमा परिसर में जगह-जगह पर सुरक्षा व्यवस्था में तैनात नजर आए असामाजिक तत्वों पर पैनी नजर भी रखा गया कई जगहों पर गोपनीय सीसीटीवी कैमरा भी लगाया गया था।

इसके अलावा संस्था के पदाधिकारियों के द्वारा भारतीय क्षेत्र से पहुंचे दो पत्रकार राजू कुमार सोनी मोनिका कुमारी को सम्मानित भी अंग वस्त्र देकर किया गया। इस मौके पर नेपाल के वरिष्ठ पत्रकार राकेश कुमार, नवल मंडल, रंजन भंडारी, सहित अन्य मौजूद रहे।