नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी करने वाले गिरोह का भंडाफोड़

सुपौल/विकास कुमार : सुपौल जिला के त्रिवेणीगंज अनुमंडल मुख्यालय क्षेत्र में नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी करने वाले गिरोह का भंडाफोड़ किया गया है। एसडीएम एस जेड हसन ने बताया की ठगी होनेवाला पीड़िता ने उनके पास लिखित आवेदन देकर शिकायत की थी। जिसके बाद SP मनोज कुमार के द्वारा जाँच पड़ताल की गई। तो पता चला की एक ठगी करने वाले गिरोह नौकरी के नाम पर जनता से अवैध तरीके से रुपए की वसूली कर रहे है।

छापामारी की गई तो पता चला की डपरखा पंचायत स्थित योगेश विद्या निकेतन कोचिंग संस्थानों की आड़ में राहुल कुमार नाम का व्यक्ति जो गोनहा पंचायत का रहनेवाला है। कोचिंग संस्थान भी चलाते हैं। साथ ही नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी करने वाले गिरोह के साथ मिलकर काम करते हैं। एसडीएम ने ये भी बताया कि नौकरी के नाम पर ठगी करने वाला राहुल कुमार को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।

बताया की राहुल कुमार के मोबाइल से पता चला की ठगी करने वाले गिरोह में शामिल दीपक यादव के नाम से बैंक खाते में लाखों रुपए का ट्रांजेक्शन पेटीएम के द्वारा किया गया है। बताया कि नौकरी के नाम पर प्रत्येक व्यक्ति से 35 हजार रुपए लिए जाते हैं। गिरफ्तार राहुल कुमार के अनुसार प्रत्येक व्यक्ति से 10 हजार रुपए मोबाइल पर ट्रेनिंग के नाम पर लिया जाता है और 25 हजार रुपए ज्वॉइनिंग लेटर के नाम पर लिया जाता है।

वहीं ठगी का शिकार पीड़िता ने बताया की राहुल कुमार के द्वारा मुझसे नोकरी के नाम पर ट्रेनिग पीरियड का 10 हजार रुपया किसी दीपक यादव के नाम से खाते में जमा करवा कर रशिद लिया था। अब देखना लाजमी होगा की नौकरी के नाम ठगी करने वाले गिरोह के सरगना कब तक पकड़ में आती है। या ऐसे ही आम जनता का शोषण होता रहेगा।