शिक्षक सह समाजसेवी गगन देव प्रसाद की इलाज के दौरान मौत

रक्सौल/प्रतिनिधि : पूर्व मंत्री श्याम बिहारी प्रसाद के करीबी माने जाने वाले 59 वर्षीय शिक्षक सह समाजसेवी गगनदेव प्रसाद कुशवाहा एवं पत्रकार डी एन कुशवाहा के समधी की उपचार के दौरान सोमवार की रात 12:45 बजे शरण क्लीनिक मोतिहारी में इलाज के दौरान मौत हो गई। उन्हें सांस लेने में तकलीफ थी। उनके निधन की खबर पर पूर्वी तथा पश्चिमी चंपारण के पूरे शिक्षक समाज सहित समाजसेवियों में शोक की लहर दौड़ पड़ी है। वे मूल रूप से छौड़ादानों प्रखंड के सुखलहिया गांव निवासी थे।


बताया जाता है कि बीते दिनों हुई बारिश में भिंगने के कारण करीब10 दिनों से वे सर्दी-खांसी व बुखार की बीमारी से जूझ रहे थे। जिसके कारण उन्हें सांस लेने में तकलीफ होने लगी। तब उन्हें शरण क्लीनिक में 3 मई को भर्ती कराया गया था। वहीं निधन के बाद आज उनका अंतिम संस्कार उनके पैतृक गांव सुखलहिया में कर दिया गया। श्री कुशवाहा अपने पीछे 3 पुत्र, 2 पुत्र वधू , 2 पौत्र और रोती बिलखती अपनी पत्नी को छोड़ कर चले गए हैं। श्री कुशवाहा पश्चिमी चंपारण के कठैया मध्य विद्यालय में कार्यरत थे।

उनके निधन से मर्माहत शिक्षक संघ के प्रदेश उपाध्यक्ष नवल किशोर सिंह, सुनील कुशवाहा, गोपाल साह प्लस टू विद्यालय मोतिहारी के सेवानिवृत्त प्राचार्य मदन प्रसाद, सेवानिवृत्त विजय कुमार, बाबूलाल झा, राजेश्वर चौधरी, शिक्षक श्रीनिवास प्रसाद, बीआरपी मुकेश कुमार सिंह, सीआरसी अशोक कुमार मिश्रा, शिक्षक नरेश प्रसाद, प्रधानाध्यापक रामनाथ प्रसाद, प्रधानाध्यापक उमाकांत कुशवाहा, पत्रकार डीएन कुशवाहा, राकेश कुमार, इंजीनियर सोनू कुशवाहा, इंजीनियर राजन राज, राहुल राज, राजीव राज, हिमांशु कुमार हिमकर, इंजीनियर शितांशु कुमार रंजन, इंजीनियर सुधांशु कुमार सुमन, लाल बहादुर सिंह, विद्या लाल सिंह, पूर्व विधायक प्रत्याशी रामपुकार सिन्हा,रंजेश कुमार सिन्हा,मधुरेंद्र कुमार सिंह तथा प्रधानाध्यापक वीरेंद्र कुमार सिंह सहित सैकड़ों शिक्षकों ने शोक संवेदना व्यक्त किया।