केजरीवाल सरकार ने दिल्ली में आज रात से नाइट कर्फ्यू किया एलान

सेंट्रलडेस्क : दिल्ली में बढ़ते कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों के मद्देनजर रखते हुए मंगलवार की रात से कर्फ्यू लगाने का एलान हुआ है। आगामी 30 अप्रैल तक लगाए गए नाइट कर्फ्यू के तहत रात 10 से लेकर सुबह 5 बजे तक लोगों को घर से निकलने पर मनाही होगी। दिल्ली सरकार से जुड़े एक वरिष्ठ सरकारी अधिकारी ने सोमवार को ही कहा था। रात के कर्फ्यू लगाने का प्रस्ताव विचाराधीन था। कर्फ्यू की समयावधि रात 10 बजे से सुबह पांच बजे तय की गई है। नाइट कर्फ्यू में रात से सुबह तक लोगों के सार्वजनिक स्थानों पर घूमने-फिरने की मनाही होती है। यह टाइमिंग हर सरकार के अनुसार बदल भी जाता है। दिल्ली में रात 10 बजे से सुबह 5 बजे तक नाइट कर्फ्यू लगेगा। इस दौरान लोग बेवजह घर से बाहर नहीं निकल सकेंगे। इससे पहले मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को कहा था। दिल्ली में कोरोना के संक्रमण की चौथी लहर चल रही है।

लेकिन अभी लॉकडाउन लगाने पर अभी विचार नहीं किया जा रहा है। उन्होंने कहा था कि हम लॉकडाउन लगाने पर विचार नहीं कर रहे हैं। हम स्थिति पर करीबी नजर रख रहे हैं। अगर इस तरह का निर्णय उचित है तो सार्वजनिक परामर्श के बाद ही लिया जाएगा। यहां पर बता दें कि पिछले सप्ताह दिल्ली सरकार के मुखिया अरविंद केजरीवाल ने लॉकडाउन लगाने की संभावना को पूरी तरह से खारिज तो नहीं किया था। लेकिन यह भी कहा था कि फिलहाल इसकी जरूरत नहीं है। उन्होंने कहा था कि लॉकडाउन लगाने की नौबत आई तो बातचीत कर इस पर फैसला लिया जाएगा। गौरतलब है कि दिल्ली में कोरोना वायरस का संक्रमण लगातार बढ़ रहा है। चार माह बाद संक्रमण दर 5.54 फीसद पहुंच गई है।

जो 125 दिन में सबसे अधिक है। इसके पहले पिछले एक दिसंबर को संक्रमण दर 6.85 फीसद थी। अब एक बार फिर संक्रमण दर साढ़े पांच फीसदी के पार पहुंच गई। इस वजह से दिल्ली में कोरोना बेकाबू हो गया है। वहीं ये बताया जा रहा है कि रविवार को कम सैंपल की जांच होने के कारण सोमवार को 3,548 नए मामले आए। संक्रमण बढ़ने के कारण सक्रिय मरीजों की संख्या 14,500 से अधिक हो गई है। इस वजह से अस्पतालों में मरीजों का दबाव बढ़ रहा है। स्थिति यह है कि पिछले 24 घंटे में 15 मरीजों की मौत हो गई। इस वजह से पिछले पांच दिन में कोरोना के कारण 69 मरीजों की मौत हुई है। फिर भी बचाव के नियमों का लोग सख्ती से पालन नहीं कर रहे हैं। बाजारों में अब भी लोग बगैर मास्क के देखे जा रहे हैं।