28.1 C
Delhi
Homeदिल्लीमानसून सत्र : किसानों के दिल्ली कूच आंदोलन पर पुलिस की कड़ी...

मानसून सत्र : किसानों के दिल्ली कूच आंदोलन पर पुलिस की कड़ी नजर, सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

- Advertisement -

सेंट्रल डेस्क : तीन कृषि कानूनों के खिलाफ महीनों से आंदोलनरत किसानों के संसद सत्र के दौरान दिल्ली कूच की घोषणा को लेकर पुलिस ने कड़ी नाकेबंदी की है ।याद रहे कि संसद का मानसून सत्र आज से शुरू हो रहा है जिसमे विपक्ष द्वारा किसान आंदोलन का मुद्दा मजबूती से उठाए जाने की संभावना है। दिल्ली की सीमाओं पर किसान लंबे अरसे से धरना दे रहे हैं ।मानसून सत्र के दौरान उन्होंने दिल्ली कूच करने का एलान किया है । इसे लेकर दिल्ली पुलिस को पूरी तरह से अलर्ट कर दिया गया है। किसानों को दिल्ली में न घुसने देने के लिए सुरक्षा के बेहद कड़े इंतजाम किए गए हैं। नई दिल्ली जिला को खासतौर पर पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया है।

दिल्ली पुलिस का खुफिया विभाग किसानों की हर रणनीति का पता लगा उक्त जानकारी को दिल्ली पुलिस के आला अधिकारियों से शेयर कर रहा है। पुलिस आयुक्त बालाजी श्रीवास्तव लगातार आला अधिकारियों के साथ बैठक कर उक्त मसले से संबंधित पल-पल की जानकारी ले रहे हैं।

पुलिस 26 जनवरी जैसी चूक दोबारा न होने देने के लिए पूरी तैयारी कर ली है। वैसे तो 26 जनवरी की घटना के बाद ही उक्त घटना से सबक लेते हुए पुलिस ने उसी दौरान सीमाओं पर चौेकसी बढ़ा दी थी। सीमाओं पर कंक्रीट के मोटे मोटे बैरीकेड आदि कई तरह के मजबूत बंदोबस्त कर दिए थे, जिससे किसानों को अब दोबारा दिल्ली में घुसकर उपद्रव करना आसान नहीं होगा। मानसून सत्र में व्यवधान डालने संबंधी इंटेलीजेंस के इनपुट पर सिंघु व गाजीपुर आदि सीमाओं पर पुलिसकर्मियों व पैरा मिलिट्री की संख्या बढा दी गई है और सुरक्षा के और कड़े बंदोबस्त कर दिए गए हैं। आला अधिकारियों की वहां नियमित तौर पर राउंड द क्लाक मुस्तैदी कर दी गई है।

19 से मानसून सत्र की शुरूआत होने से एक सप्ताह पहले से पुलिस अधिकारियों ने सुरक्षा को लेकर तैयारियां शुरू कर दी थी। पुलिस आयुक्त ने सख्त निर्देश जारी कर कहा है कि कानून अपने हाथ में लेने वालों के साथ पुलिस सख्ती से निपटे। नई दिल्ली जिले में चप्पे-चप्पे पर बैरीकेड लगाकर पुलिसकर्मियों व पैरा मिलिट्री की तैनाती कर दी गई है। जिले में किसी भी आंदोलनकारी को घुसने नहीं दिया जाएगा।

पुलिस को सूचना मिली है कि आंदोलनकारी छोटे-छाेटे समूहों में इंडियागेट, राजपथ, जंतर मंतर आदि जगहों पर आकर बड़े समूह बनाकर अचानक नारेबाजी कर सकते हैं। इसे देखते हुए जगह-जगह वाहनों के बंदोबस्त किए गए हैं ताकि उन्हें तुरंत काबू में कर हिरासत में लिया जा सके। एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक दिल्ली के सभी थानों के थानाध्यक्षों को निर्देश दिए गए हें कि वे अपने-अपने इलाके में कड़ी चौकसी रखें। सभी थाना पुलिस सड़कों पर उतरकर मानसून सत्र खत्म होने तक लगातार गश्त करते रहें। सभी कर्मियों की छुटिटयां रदद कर दी गई है। लालकिले की भी सुरक्षा और बढ़ा दी गई है।

- Advertisement -



- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -