चंपारण : गांधी दर्शन को जीवन में उतार कर समाज को प्रेरित करने की है जरूरत : प्रति कुलपति

चंपारण/राजन दत्त द्विवेदी : मोतिहारी के महात्मा गांधी केंद्रीय विश्वविद्यालय के समाज कार्य विभाग के तत्वावधान में “वर्तमान परिपेक्ष्य में समाज कार्य और गांधी” अतिथि व्याख्यान कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस अवसर पर कार्यक्रम संरक्षक के विश्वविधालय के कुलपति प्रो. संजीव कुमार शर्मा कार्यक्रम अध्यक्ष विश्वविधालय के प्रति कुलपति प्रो.जी गोपाल रेड्डी, मुख्य वक्ता प्रो. बंशीधर पाण्डेय (निदेशक गांधी अध्ययन पीठ अधिष्ठाता; छात्र कल्याण संकाय महात्मा गांधी काशी विद्यापीठ वाराणसी), विशिष्ट वक्ता के रूप में डॉ. राहुल गुप्ता एवं कार्यक्रम के सानिध्य के तौर पर सोशल साइंस के अधिष्ठाता प्रो. राजीव कुमार उपस्थित थे।



कार्यक्रम की शुरुआत समाज कार्य विभाग के प्राध्यापक डॉ. अनुपम वर्मा द्वारा अतिथियों का स्वागत कर मां सरस्वती की प्रतिमा पर पुष्प अर्पण कर किया एवं विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ. एम विजय कुमार शर्मा ने पौधा देकर किया। प्रति कुलपति प्रो जी. गोपाल रेडी ने गांधी दर्शन को जीवन में उतार समाज को प्रेरित करने की बात कही।

मुख्य वक्ता प्रोफेसर बंशीधर पाण्डेय जी ने समाज कार्य पर प्रकाश डालते हुए आज के समय में समाज कार्य को जीवन का अभिन्न अंग बताया। उन्होंने आधुनिक समय में गांधी दर्शन की प्रासंगिता बताते हुए कहा कि यदि समाज का प्रत्येक नागरिक गांधी के दर्शन पर चले तो समाज अपने सतत विकास को खुद प्राप्त कर लेगा।

उन्होंने गांधी जी की एकादशी व्रत का उल्लेख करते हुए छात्रों को अपने जीवन में इस से प्रेरणा लेने की बात कही और गांधी जी द्वारा समाज के अंतिम पंक्ति में खड़े अंतिम व्यक्ति तक हर योजना का लाभ मिले इस बात कि महत्ता पर जोर दिया। कार्यक्रम का धन्यवाद ज्ञापन विभाग की सहायक प्राध्यापिका डॉ. रश्मिता राय ने किया।

इस कार्यक्रम में विश्वविधालय के प्रोक्टर प्रो. प्राण वीर सिंह, डॉ.नरेंद्र सिंह, डॉ जुगल दधिजी, प्रो. अंतांत्रा पाल, प्रो.अजय, प्रो.प्रशांत, डॉ दिनेश वयास इत्यादि उपस्थित थे। इस मौके पर ऑनलान और ऑफलाइन मोड में पूरे देश से सैकड़ों अध्यापकों और छात्रों ने भाग लिया एवं ऑफ लाइन मोड पर समाज कार्य के छात्र और छात्रों के साथ साथ विश्विद्यालय के अनेकों विभाग के छात्र और छात्राएं भी उपस्थित थें।