गौतम अडानी बोले- अडानी समूह भारत में निवेश करने से कभी भी पीछे नहीं हटा, 70 अरब डॉलर से ज्यादा का खर्च करने का रखा लक्ष्य

इकॉनमी

बीपी डेस्क। अडानी ग्रुप के चेयरमैन गौतम अडानी ने आज अडानी एंटरप्राइजेज की एनुअल जनरल मीटिंग में कहा कि भारत आने वाले सालों में क्लीन एनर्जी के क्षेत्र में सबसे अग्रणी रहने वाला है. अडानी समूह भारत में निवेश करने से कभी भी पीछे नहीं हटा है और यहां हम अपना इंवेस्टमेंट बढ़ाते रहेंगे. हमारा आने वाले समय में 70 अरब डॉलर से ज्यादा का खर्च करने का लक्ष्य है.

शेयरधारकों को संबोधित करते हुए गौतम अडानी ने कहा कि हमने डेटा सेंटर, डिजिटल सुपर ऐप, औद्योगिक क्लाउड,रक्षा, एयरोस्पेस, धातु और सामग्री के क्षेत्रों में प्रविष्टियां की, ये आत्मानिर्भर भारत के साथ कदम से कदम मिलाकर एक होते हुए किया गया है. इस साल हमारा ग्रुप मार्केट कैपिटलाइजेशन 200 अरब अमेरिकी डॉलर से ज्यादा गया है. गौतम अडानी ने आज एजीएम में कहा कि साल 2015 की तुलना में भारत की रीन्यूएबल एनर्जी की कैपिसिटी 300 फीसदी से ज्यादा बढ़ गई है.

साल 2020-21 की तुलना में पिछले साल रीन्यूएबल एनर्जी सेक्टर में इंवेस्टमेंट में 125 फीसदी की बढ़ोतरी देखी गई है. देश में बिजली की बढ़ती मांग को पूरा करने के लिए जरूरी है कि रीन्यूएबल एनर्जी उत्पादन को और बढ़ाया जाए और इस मांग को पूरा किया जाए.

गौतम अडानी ने ये भी कहा कि मेरा मानना है कि एक ऐसे देश के रूप में जो ऑयल एंड गैस के क्षेत्र में आयात पर ज्यादा निर्भर रहता है- भारत की पहचान को बदलने के लिए हम प्रतिबद्ध हैं और इसे ऐसे देश के रूप में सामने लाना चाहते हैं जो एक दिन क्लीन एनर्जी का एक्सपोर्टर बनेगा. जहां अडानी ग्रुप का मेजर ग्लोबल रीन्यूएबल एनर्जी पोर्टफोलियो है, वहीं पिछले 12 महीने या एक साल में हमने कई दूसरी इंडस्ट्रीज में भी असाधारण ग्रोथ दिखाई है.