पुलवामा हमले में शहीद परिवार की मदद करेगा रिलायंस फाउंडेशन, बच्चों की पढ़ाई और रोजगार की ली जिम्मेदारी

0
185

सेंट्रल डेस्क : जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में शहीद हुए जवानों के परिवारों की मदद के लिए रिलायंस फाउंडेशन आगे आया है। रिलायंस फाउंडेशन ने कहा है कि पूरा रिलायंस परिवार इस अमानवीय आतंकवादी हमले के खिलाफ 130 करोड़ भारतीयों के साथ खड़ा है। एक नागरिक और कॉरपोरेट समूह होने के नाते हम पूरी तरह से अपने सुरक्षाबलों और सरकार के पीछे खड़े हैं।

शहीदों के प्रति हमारी कृतज्ञता के प्रतीक के रूप में, रिलायंस फाउंडेशन उनके बच्चों की शिक्षा और रोजगार की पूरी जिम्मेदारी लेता है। इसके साथ ही उनके परिवार की आजीविका का भी जिम्मा लेता है। ये हमला वीरवार को जम्मू-श्रीनगर हाइवे पर किया गया था, जिसमें सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए हैं। 

फाउंडेशन ने इस घटना पर 1.3 अरब भारतीयों की तरफ से आक्रोश जाहिर किया है। रिलायंस फाउंडेशन ने कहा है कि ‘‘दुनिया की कोई भी ताकत भारत की एकता को खत्म नहीं कर सकती और न ही इंसानियत के दुश्मन आतंकियों को हराने के हमारे संकल्प को कमजोर कर सकती है।’’

फाउंडेशन ने कहा हे कि ‘‘शोक की इस घड़ी में हम शहीदों के परिवारों के साथ हैं। ये देश शहीदों के बलिदान और बहादुरी को कभी नहीं भूलेगा। हम घायल जवानों के जल्द स्वस्थ होने की प्रार्थना करते हैं। 

शहीदों के प्रति अपने सम्मान को व्यक्त करते हुए रिलायंस फाउंडेशन शहीदों के बच्चों की शिक्षा का पूरा दायित्व और उनके रोजगार की जिम्मेवारी लेती है। उनके परिवारों की आजीवका का दायित्व भी फाउंडेशन लेगी। अगर जरूरत है तो हमारे हॉस्पिटल घायल हुए जवानों को बेहतर इलाज देने के लिए तैयार हैं।

हमें जवानों के प्रति अपने कर्तव्य को समझना होगा और सुरक्षाबलों के लिए सरकार द्वारा दी गई हर जिम्मेदारी को पूरा करना होगा। हम उस हर दायित्व को पूरा करने के लिए तैयार हैं, जो कि सरकार हमारे देश के सैन्य बलों के लिए हमारे कंधों पर डालती है। 

गौरतलब है कि रिलायंस फाउंडेशन, रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड का हिस्सा है। इसका मकसद देश के विकास की चुनौतियों से निपटने में प्रेरणादायी भूमिका निभाना और उसका स्थायी समाधान निकालना है। रिलायंस फाउंडेशन की फाउंडर और चेयरपर्सन नीता अंबानी हैं।