15.1 C
Delhi
HomeEducationसमस्तीपुर : एक ऐसा विद्यालय जहां के बच्चे अब हवाई जहाज में...

समस्तीपुर : एक ऐसा विद्यालय जहां के बच्चे अब हवाई जहाज में लेंगे लाइब्रेरी का मजा

- Advertisement -

समस्तीपुर/बीपी प्रतिनिधि। शिक्षा में सुधार और गुणवत्तापूर्ण शिक्षा को लेकर के लगातार सरकार काम कर रही है। विद्यालय में पढ़ाई के प्रति बच्चों में आकर्षण कैसे बढ़े, इसको लेकर के भी सरकार की तरफ से कई योजनाएं चलाई जाती है लेकिन हम एक ऐसे विद्यालय से आपको रूबरू करा रहे हैं जहां के बच्चे अब हवाई जहाज में लाइब्रेरी का मजा लेंगे और उसमें पढ़ाई करेंगे। क्या है पूरा मामला देखिए इस रिपोर्ट में…

समस्तीपुर जिला मुख्यालय से करीब 70 किलोमीटर दूर के बच्चे अब हवाई जहाज में करेंगे पढ़ाई। और इसकी व्यवस्था विद्यालय के हेड मास्टर के द्वारा अपने निजी कोष से की गई है। जी हां मामला है पटोरी अनुमंडल क्षेत्र के मोहिउद्दीन नगर प्रखंड अंतर्गत शिवैसिंहपुर गांव का जहां के उत्क्रमित मध्य विद्यालय के हेड मास्टर के प्रयास से एक हवाई जहाज तैयार किया गया है और उसमें लाइब्रेरी की व्यवस्था की गई है जिसके अंदर 15 से 20 बच्चे बैठ कर लाइब्रेरी में पढ़ाई कर सकते हैं।

विद्यालय में हवाई जहाज के शक्ल में बना लाइब्रेरी इन लोगों को खूब आकर्षित कर रहा है। इस लाइब्रेरी का नाम शिक्षा उड़ान रखा गया है। और यह कोई सरकारी खर्च पर नहीं बनाया गया है बल्कि हेड मास्टर मेघन सहनी के द्वारा अपने निजी कोष से बच्चों में शिक्षा के प्रति ललक जगाने के लिए बनाया गया है।

इस हवाई जहाज नार्मल लाइब्रेरी का उद्घाटन मोहिउद्दीन नगर के विधायक राजेश कुमार सिंह के द्वारा किया गया। इस मौके पर विद्यालय के छात्र-छात्राओं के अलावा इलाके के कई गणमान्य लोग भी मौजूद रहे। विद्यालय के हेड मास्टर मेघन सहनी बताते हैं कि मोहिउद्दीन नगर के ही नंदनी गांव में शिक्षा एक्सप्रेस बनाई गई थी जो ट्रेन के शक्ल में था, जिसके बाद उनके स्कूल के बच्चे उनसे हवाई जहाज बनाने के लिए कहे और बच्चों की बात को रखते हुए उन्होंने विद्यालय में हवाई जहाज की तरह दिखने वाले लाइब्रेरी का निर्माण कराया।

विद्यालय के हेडमास्टर के द्वारा किए गए इस अनोखे कारनामे की प्रशंसा चारों ओर हो रही है इलाके के बच्चों से लेकर बुजुर्ग तक हर कोई इसे अच्छा प्रयास बता रहे हैं लोगों का कहना है कि इससे शिक्षा के प्रति बच्चों में जागरूकता बढ़ेगी और यह एक अपने आप में नए तरह का आयाम है।

यह भी पढ़ें…

निश्चित रूप से विद्यालय के हेडमास्टर के द्वारा जो यह निजी कोष से हवाई जहाज के शक्ल में लाइब्रेरी बनाकर बच्चों को शिक्षा के प्रति अलख जगाने का प्रयास किया गया है यह अपने आप में काफी सराहनीय कदम है।

- Advertisement -






- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -