अविष्कार: इस डिवाइस से ब्रेन सर्जरी होगी आसान और सस्ती

0
79

सेंट्रल डेस्क : कर्नाटक के बेंगलुरु के कई डॉक्टर्स ने न्यूरोसर्जरी के क्षेत्र में एक खास सफलता हासिल की है। इन डॉक्टर्स ने एक ऐसी स्वदेशी डिवाइस बनाई है, जिसकी मदद से छोटी से छोटी ब्रेन सर्जरी की जा सकेगी। यह एक तरह का स्टीरियोटैक्टिक फ्रेम है, जिसे 3DR स्टीरियोटैक्टिक सिस्टम नाम दिया गया है।

आपको बता दें कि स्टीरियोटैक्टिक ब्रेन सर्जरी एक ऐसी प्रक्रिया है, जिसके माध्यम दिमाग में बने ट्यूमर को या तो निकाल दिया जाता है या फिर इमेज गाइडेंस की मदद से उसकी बायोप्सी (एक तरह की जांच) की जा सकती है। इससे दिमाग में ब्लड क्लॉटिंग, मूवमेंट डिसऑर्डर, दर्द, साइट्स आधि संबंधी समस्याओं में सर्जरी करने में मदद मिलेगी।

दिमाग के छोटे से छोटे हिस्से की मिलेगी जानकारी
खासतौर पर डिजाइन किए गए फ्रेम को इंसान के सिर पर सेट किया जाता है। इससे सर्जरी करने वाले डॉक्टर अपनी जरूरत के हिसाब से दिमाग के अलग-अलग और छोटे से छोटे हिस्से को ऑपरेट कर पाते हैं। डिवाइस का कॉन्सेप्ट तैयार करने वाले और ब्रेन हॉस्पिटल के चेयरमैन डॉ एनके वेंकटरमन कहते हैं, ‘इस फ्रेम की खोज से हम दिमाग के किसी भी हिस्से को 3D में देख करके लोकेट कर सकते हैं और जरूरी सर्जरी कर सकते हैं।’

इस डिवाइस को बेंगलुरु की ही महाल्सा मेडिकल टेक्नॉलजी लिमिटेड ने तैयार किया है। डॉ वेंकटरमन आगे बताते हैं, ‘ऐसे कई फ्रेम मार्केट में हैं लेकिन उनकी कीमत काफी ज्यादा है। हमने जो स्वदेशी 3D आर्क बनाया है। यह मार्केट में उपलब्ध फ्रेम्स की तुलना में लगभग तीन गुना सस्ता है।’ इस डिवाइस के लॉन्च के मौके पर केंद्रीय मंत्री निर्मला सीतारमण भी मौजूद रहीं। उन्होंने भी इस टीम के काम को सराहा।

निर्मला सीतारमण ने भी की जमकर तारीफ
निर्मला सीतारमण ने कहा, ‘जो लोग कहते हैं कि मेक इन इंडिया प्रगति नहीं कर रहा है, वे इस खोज को देखें। यह बेंगलुरु के लाइफ साइंस रिसर्चर्स, डॉक्टर्स और उद्यमियों का शानदार कॉम्बिनेशन है, इस बेहतरीन डिवाइस से कई मरीजों को मदद मिलेगी।’