13.1 C
Delhi
HomeHealthनालंदा : कोविड-19 प्रबंधन को ले प्रभारी मंत्री ने जनप्रतिनिधियों के साथ...

नालंदा : कोविड-19 प्रबंधन को ले प्रभारी मंत्री ने जनप्रतिनिधियों के साथ की वर्चुअल बैठक

- Advertisement -

बिहारशरीफ/अविनाश पांडेय। जिले में कोविड-19 के प्रसार की रोकथाम, इलाज एवं टीकाकरण प्रबंधन की व्यवस्था की समीक्षा के लिए गुुुुुुुुरूवाार को प्रभारी मंत्री नालंदा जिला-सह- मंत्री शिक्षा विभाग विजय कुमार चौधरी की अध्यक्षता में जनप्रतिनिधिगण के साथ वर्चुअल माध्यम से बैठक आहूत की गई।

जिलाधिकारी शशांक शुभंकर द्वारा कोविड प्रबंधन को लेकर जिला में अब तक किए गए कार्यों तथा आगे की तैयारी एवं कार्य योजना के बारे में विस्तृत रूप से पावर पॉइंट प्रेजेंटेशन के माध्यम से जानकारी दी गई। बैठक में बताया गया कि बुधवार तक जिले में 751 एक्टिव =केस मौजूद थे, जिनमें से तीन विम्स पावापुरी में भर्ती हैं तथा शेष होम आइसोलेशन में हैं।वर्तमान में जिला में पॉजिटिविटी दर 1.61 पाया गया है।

जिला में विभिन्न डेडिकेटेड कोविड हेल्थ सेंटर में फ़िलहाल 262 बेड एवं ऑक्सीजन आपूर्ति की व्यवस्था सुनिश्चित कराई गई है। होम आइसोलेशन में रह रहे लोगों को मेडिकल किट उपलब्ध कराया जा रहा है। जिला स्तरीय नियंत्रण कक्ष के माध्यम से वीडियो/ ऑडियो कॉल के माध्यम से भी उनसे संपर्क कर उनके स्वास्थ्य की जानकारी ली जा रही है एवं आवश्यकतानुसार चिकित्सीय परामर्श दिया जा रहा है। कोविड टेस्टिंग के लिए भी सभी प्रखंडों में की गई व्यवस्था के बारे में जानकारी दी गई।

कोविड-19 प्रबंधन को लेकर जिला स्तर पर गठित 6 कोषांगों के कार्यों के बारे में भी जानकारी दी गई। वैक्सीनेशन के बारे में बताया गया कि जिला में अब तक पात्र लोगों में से 80 प्रतिशत को प्रथम डोज, 88 प्रतिशत को द्वितीय डोज तथा 83 प्रतिशत लोगों को दोनों डोज दिया जा चुका है। प्रिकॉशनरी डोज लगभग 11 प्रतिशत लोगों को दिया गया है तथा 15 से 18 वर्ष आयु वर्ग के युवाओं में से लगभग 21 प्रतिशत को प्रथम डोज दिया गया है।

बैठक में सभी जनप्रतिनिधिगण द्वारा फीडबैक एवं आवश्यक सुझाव दिए गए। ग्रामीण विकास मंत्री श्री श्रवण कुमार द्वारा हॉस्पिटल में बगैर मास्क के इलाज कराने आने वाले लोगों के लिए मास्क की व्यवस्था सुनिश्चित कराने को कहा गया। बीड़ी श्रमिक अस्पताल की व्यवस्था पर विशेष रूप से ध्यान देने की बात कही गई। सभी अस्पतालों में नियमानुसार रोगी कल्याण समिति के पुनर्गठन तथा इसका नियमित रूप से बैठक आयोजित कराने को कहा गया।

नालंदा सांसद कौशलेंद्र कुमार ने सभी प्रखंडों में समानुपातिक जांच की व्यवस्था सुनिश्चित कराने को कहा। साथ ही 15 से 18 वर्ष आयु वर्ग एवं प्रिकॉशनरी डोज के वैक्सीनेशन में तेजी लाने का सुझाव दिया। हरनौत विधायक हरि नारायण सिंह ने भी रोगी कल्याण समिति के पुनर्गठन एवं नियमित बैठक आयोजित कराने पर विशेष ध्यान देने को कहा। अस्थावां विधायक जितेंद्र कुमार ने मास्क के उपयोग प्रति लोगों को और भी जागरूक करने को कहा।

इस्लामपुर विधायक राकेश कुमार रोशन ने भी मास्क के उपयोग एवं कोविड एप्रोप्रियेट बिहेवियर का सख्ती से अनुपालन कराने को कहा। प्रभारी मंत्री ने अपने संबोधन में मास्क के उपयोग तथा कोविड एप्रोप्रियेट बिहेवियर के प्रति लोगों को जागरूक करने में जनप्रतिनिधिगण को भी अपने अपने स्तर से प्रयास करने को कहा।

यह भी पढ़ें…

बैठक में ग्रामीण विकास मंत्री, नालंदा सांसद, विधायक हरनौत, विधायक अस्थावां, विधायक इस्लामपुर, जिलाधिकारी, उप विकास आयुक्त, सिविल सर्जन एवं अन्य पदाधिकारी वर्चुअल माध्यम से जुड़े थे।

- Advertisement -






- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -