Air Surgical Strikes के हीरो वीएस धनोआ का बिहार-झारखंड कनेक्शन

0
100

सेंट्रल डेस्क : पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर (पीओके) में किये गये एयर स्ट्राइक के हीरो भारतीय वायु सेना के प्रमुख एयर चीफ मार्शल वीरेंद्र सिंह धनोआ का रिश्ता बिहार-झारखंड से भी है. जन्म 07 सितंबर 1957 में देवघर में हुआ था. भारतीय वायु सेना के प्रमुख 25वां एयर चीफ मार्शल वीरेंद्र सिंह धनोआ का जन्म 7 सितंबर 1957 में देवघर में हुआ था. आज इस ऑफिसर पर देवघरवासियों को नाज है.

वर्ष 1999 में कारगिल युद्ध में भी वीएस धनोआ जमीनी हमले में अग्रिम पंक्ति के लड़ाकू स्क्वाड्रन के कमांडिंग ऑफिसर थे. श्री धनोआ के बचपन का बड़ा हिस्सा झारखंड-बिहार में गुजरा है. उन्होंने रांची के संत जेवियर स्कूल में तीन वर्षों तक पढ़ाई की है. पूर्व में मीडिया से बात करते हुए श्री धनोआ झारखंड, विशेष रूप से रांची से अपना खास जुड़ाव जाहिर कर चुके हैं.

इनके पिता आईएएस अधिकारी सारायण सिंह धनोआ वर्ष 1957 में तत्कालीन दुमका जिले के देवघर में सिविल एसडीओ के रूप में सेवा दे चुके थे. वहीं 1980 के दशक में एकीकृत बिहार सरकार में मुख्य सचिव के रूप में सेवा दी. इसके बाद पंजाब प्रांत में गर्वनर के सलाहकार के रूप में काम किया. द्वितीय विश्व युद्ध में ब्रिटिश भारतीय सेना के कप्तान के रूप में दादा कैप्टन संत सिंह ने प्रतिनिधित्व किया था.


केंद्रीय गृह सचिव राजीव गौबा

ऑपरेशन में गौबा ने भी निभायी अहम भूमिका

पीओके पर किये गये हमले में अहम भूमिका निभाने वाले केंद्रीय गृह सचिव राजीव गौबा के हाथों में देश की आंतरिक सुरक्षा की कमान है. गृह सचिव के रूप में वह कैबिनेट सुरक्षा समिति के सदस्य हैं. श्री गौबा झारखंड कैडर के आइएएस अधिकारी हैं. रघुवर सरकार में वह राज्य के मुख्य सचिव थे. श्री गौबा का जन्म पटना, बिहार में हुआ था.

उन्होंने अपनी पढ़ाई-लिखाई पटना से ही पूरी की है. वह गृह सचिव बनने के पहले भी केंद्र सरकार में महत्वपूर्ण पदों पर रह चुके हैं. वह गृह मंत्रालय में विशेष सचिव और केंद्रीय शहरी विकास मंत्री के सचिव के रूप में पदस्थापित थे. श्री गौबा ने पूर्व रक्षामंत्री जॉर्ज फर्नांडिस के आप्त सचिव के रूप में भी काम किया था.