28.1 C
Delhi
HomeLocal newsजिले के विकास में बैंकों की अग्रणी भूमिका, सक्रिय सहभागिता सुनिश्चित करें...

जिले के विकास में बैंकों की अग्रणी भूमिका, सक्रिय सहभागिता सुनिश्चित करें बैंकर्स : कुंदन कुमार

- Advertisement -

बेतिया/अवधेश कुमार शर्मा। पश्चिम चम्पारण जिले में जिलास्तरीय परामर्शदात्री समिति की समीक्षा बैठक सामान्यतः समाहरणालय सभागार में होती है, लेकिन इस बार स्टार्टअप जोन चनपटिया के प्रांगण में डीएलसीसी एवं डीएलआरसी की बैठक खुशनुमा माहौल में संपन्न हुई।

मौके पर डीएम कुंदन कुमार ने कहा कि जिला के बैंकर्स का सक्रिय व सकारात्मक सहयोग से चनपटिया स्टार्टअप जोन इस मुकाम पर पहुंचा है। उर्जावान व्यक्ति में अगर जोश, उमंग, उत्साह हो लेकिन उसकी आर्थिक स्थिति ठीक नहीं हो तो उसे अपना उद्यम प्रारंभ नहीं कर सकता है। कोरोना आपदा के वैश्विक संकट के बीच जिला में वापस लौटे हुनरमंद कामगारों, श्रमिकों को जिस सकारात्मकता के साथ बैंकर्स का सहयोग प्राप्त हुआ है, उसे हमेशा बनाये रखना है।

उन्होंने कहा कि अभी भी बहुत सारे कामगार एवं श्रमिक जिला में वापस लौट रहे हैं और यही पर अपने हुनर के मुताबिक उद्यम शुरू करना चाहते हैं। इनमें से कई लोग स्वयं फाईनेंस भी करने के इच्छुक हैं तथा कईयों को आर्थिक सहायता की आवश्यकता पड़ेगी। आर्थिक सहयोग की अपेक्षा रखने वाले व्यक्तियों को बैंकर्स हरसंभव मदद करें। उन्होंने कहा कि स्टार्टअप जोन चनपटिया में शेड आवंटित उद्यमियों को पीएमइजीपी योजना अंतर्गत विभिन्न बैंक शाखा ने 23 आवेदकों का ऋण स्वीकृत किया है, जो अच्छी बात है, शेष लंबित मामलों का निष्पादन पूरी तत्परतापूर्वक करने को कहा गया है।

उन्होंने कहा कि प्रयास ऐसा करें कि कोई भी आवेदन अस्वीकृत नहीं होने पाएं। उन्होंने कहा कि बेहतर कार्य करने वाले बैंकर्स को जिला प्रशासन यथा संभव सम्मानित करता रहेगा तथा टालमटोल, लापरवाही करने वाले बैंकर्स के विरूद्ध विधिसम्मत कार्रवाई भी सुनिश्चित है। एसबीआइ बैंक ने बताया कि शनिवार शाम तक लंबित मामलों का निष्पादन कर दिया जायेगा।

यूकों बैंक ने बताया कि एक सप्ताह में लंबित मामलों का निष्पादन हो जायेगा। सीबीआई बैंक ने बताया कि शीघ्र ही ऋण विमुक्त किया जाएगा। बैंक ऑफ बड़ौदा ने एक सप्ताह का समय लंबित मामलों के निष्पादन में लिया है। प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना की समीक्षा के दौरान जिला पदाधिकारी ने कहा कि यह बेहद की महत्वाकांक्षी योजना है। इस योजना से ज्यादा से ज्यादा व्यवसायियों को लाभान्वित किया जाना है। बैंकर्स इस योजना के तहत प्राप्त आवेदनों के निष्पादन में दिलचस्पी दिखायें।

समीक्षा के क्रम में बताया गया कि विभिन्न स्ट्रीट वेंडरों को स्वरोजगार करने के लिए 10 हजार रूपये की आर्थिक सहायता प्रदान की जा रही है। लंबित मामलों का तीव्र गति से निष्पादन करने को 05 जुलाई से 20 जुलाई तक कैम्प का आयोजन किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि फिशरिज, डेयरी, पोल्ट्री का संचालन करने वाले व्यक्तियों को भी केसीसी से लाभान्वित किया जाए। उन्होंने कहा कि डेयरी, एग्रीकल्चर एलायड क्षेत्रों में ज्यादा से ज्यादा लोगों को लाभान्वित करने के उदेश्य से कार्ययोजना बनायी गयी है। उपर्युक्त कार्ययोजना का क्रियान्वयन बेहतर तरीके से सुिनश्चित करें।

उन्होंने पदाधिकारियों को निदेशित किया कि कृषि एलायड विभिन्न सरकारी योजनाओं का व्यापक स्तर पर प्रचार-प्रसार कराना सुनिश्चित करें, जिससे अधिक से अधिक लोगों को इन योजनाओं से लाभान्वित किया जा सके। पश्चिम चम्पारण सांसद डॉ.संजय जायसवाल ने केसीसी की गति को तेज़ करेने को बैंकर्स को निदेश दिया। उन्होंने कहा कि केसीसी अंतर्गत लंबित मामलों का निष्पादन कैम्प मोड में करना सुनिश्चित करें जिससे संबंधित व्यक्ति अपने व्यवसाय को आगे बढ़ा सके।

इस अवसर पर जिला का साख/जमा/अनुपात, एसीपी, प्रधानमंत्री रोजगार सृजन योजना, प्रधानमंत्री रोजगार सृजन योजना, किसान क्रेडिट कार्ड, प्रधानमंत्री मुद्रा योजना, मुर्गी पालन, बकरी पालन, मत्स्य पालन योजना, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा, प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा, अटल पेंशन, सुकन्या समृद्धि, समग्र गव्य विकास योजना, डेयरी उद्यमिता विकास योजना सहित ग्रामीण स्वरोजगार प्रशिक्षण संस्थान, बैंकवार पाॅस/एटीएम मशीन, अल्पसंख्यक वित पोषण, जीविका स्वयं सहायता समूह की गहन समीक्षा की गयी।

यह भी पढ़ें….

इस अवसर पर चनपटिया स्टार्टअप जोन को सुदृढ़ करने में बेहतर कार्य करने वाले विभिन्न बैंकर्स सेन्ट्रल बैंक ऑफ इंडिया, हजारी मल धर्मशाला, बेतिया, बैंक ऑफ बड़ौदा, उज्जैन टोला, सेन्ट्रल बैंक ऑफ इंडिया, चनपटिया एवं स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, पूर्वी करगहिया को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया।

- Advertisement -



- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -