13.1 C
Delhi
HomeLocal newsदरभंगा : कुलपति व कुलसचिव की बर्खास्तगी की मांग को ले किया...

दरभंगा : कुलपति व कुलसचिव की बर्खास्तगी की मांग को ले किया सीनेट बैठक का घेराव

- Advertisement -

-कुलपति, कुलसचिव छात्र-छात्राओं के जीवन से खिलवाड़ करना बंद करें और समय पर परीक्षा व परिणाम की गारंटी हो : आइसा जिलाध्यक्ष प्रिंस राज
दरभंगा/बीपी प्रतिनिधि।
कुलपति और कुलसचिव सहित सभी पदाधिकारी का नियुक्ति से लेकर वर्तमान तक के कार्यकाल की जांच कराने, बेनीपुर डिग्री कॉलेज, समस्तीपुर कॉलेज,समस्तीपुर सहित सभी कॉलेजो में हुए अवैध बहाली की जांच कराने, विवि से लेकर महाविद्यालय तक मे पुस्तकालय व प्रयोगशाला को सुदृढ करवाने, MBA, BBA, BCA सहित अन्य वोकेशनल कोर्स में कैम्पस सेलेक्शन की गारंटी करने, WIT, स्नातकोत्तर के छात्राओ का लंबित परीक्षा व परीक्षा परिणाम घोषित किया जाय।

छात्राओ को प्लेसमेंट की सुविधा देने, सी एम लॉ कॉलेज में स्थायी प्रधानाचार्य की नियुक्ति करने, स्थायी प्रधानाचार्य की नियुक्ति तक वरीयता के आधार पर उसी महाविद्यालय के प्रोफ़ेसर को प्रधानाचार्य बनाने, सी एम लॉ कॉलेज में नामांकन प्रारंभ कराने, कॉलेज का स्थायी मान्यता सरकार से दिलवाने, सी एम लॉ कॉलेज के संविदा शिक्षकों को अभिलम्ब वेतन का भुगतान करवाने, नियमित वर्ग संचालन की गारंटी करवाई जाए।

पीजी व पीएचडी के छात्रों को अभिलम्ब परिचय पत्र देने, समस्तीपुर कॉलेज समस्तीपुर के प्रभारी प्रधानाचार्य के कार्यकाल की जांच कराई जाए एवं डेली वेज व संविदा कर्मी प्रभारी प्रधानाचार्य एवं पुस्तकालय कर्मी के पुत्र समेत अन्य के अवैध बहाली पर रोक लगाने, स्नातकोत्तर हिंदी विभाग के सहायक प्राचार्य अखिलेश कुमार के सेवा संपुष्टि पर रोक लगाने, फर्जी तरीके से हुए ट्रांसफर की जांच कराने, आउटसोर्सिंग कर्मी को संविदा पर परिवर्तित करने, दूरस्थ शिक्षा निदेशालय को अविलंब चालू करवायने सहित अन्य मांग को लेकर ऑनलाइन सीनेट बैठक का घेराव किया गया।

मार्च सीएम लॉ कॉलेज से नारगौना परिषर तक निकाला गया। मार्च का नेतृत्व आइसा जिलाध्यक्ष प्रिंस राज, संदीप कुमार, राजू कर्ण, ओणम सिंह, सबा रौशनी, छात्र राजद जिला अध्यक्ष प्रवीण कुमार यादव, प्रदेश महासचिव विजय कुमार यादव में किया। वही सभा की अद्यक्षता आइसा जिला सचिव मयंक कुमार यादव ने किया।

सभा को संबोधित करते हुए आइसा राज्य सह सचिव सह जिलाध्यक्ष प्रिंस राज ने कहा कि आज पूरा बिहार भ्रष्टाचार की खेल में तब्दील है। प्रत्यक्ष राज भवन के नेतृत्व में मिथिला विवि में लूट का खेला चल रहा है। छात्र-छत्राओ का परीक्षा से लेकर परिणाम तक कि चिंता विवि प्रशासन को नही है। WIT जैसे संस्थान का रिजल्ट आज कई महीना लेट हो रहा है। पीजी 1st व 3rd का रिजल्ट अभी तक नही आया है।

पीजी 2nd व 4th की परीक्षा फॉर्म भरने का डेट जारी नही हुआ है। विवि प्रशासन को इस पर ध्यान नही है। कुलपति और कुलसचिव छात्र-छत्राओ के जीवन से खिलवाड़ कर रहे हैं। विश्वविद्यालय में कार्यरत सेक्युरिटी का विश्वविद्यालय में कोई उपस्थिति नही बनती है जबकी पहले के दौर में केयर टेकर के अंदर सेक्युरिटी काम करता था और इसका विश्वविद्यालय भी उपस्थिति बनाता था।लेकिन आज बिना उपस्थिति के भुगतान हो रहा है।ex-man सहित सभी गार्ड के नाम पर करोड़ो भुगतान हो रहे है, जिसका कोई लेख-जोखा नही है, जिसके लिए सीधे तौर पर कुलसचिव व कुलसचिव प्रथम जिम्मेदार है। उन्होंने सरकार व राजभवन से मांग किया कि जल्द से जल्द कुलपति व कुलसचिव की बर्खास्तगी हो।

वही आइसा जिला सचिव मयंक कुमार यादव ने कहा कि मिथिला विवि के कुलसचिव पर कई तरह के भ्रष्टाचार के आरोप है फिर भी इन्हें कुलसचिव बना दिया गया और जब से यह कुलसचिव बने है तब से विवि को बर्बादी के राह पर ले जा रहे है। अपने करीबी लोगो को फर्जी बहाल के रहे और शिक्षक कर्मचारी के साथ बदले की भावना से करवाई कर रहे है। उन्होंने कहा कि बेनीपुर डिग्री कॉलेज, समस्तीपुर कॉलेज समस्तीपुर में फर्जी बहाली प्रत्यक्ष कुलसचिव के नेतृत्व में हो रहा है। अगर कुलपति कुलसचिव के पूरे कार्यकाल की और फर्जी बहाली की जांच नही होती है तो आइसा और आन्दोलन तेज करेगी।

वही छात्र राजद के जिला अध्यक्ष प्रवीण कुमार यादव ने कहा कि आज नीतीश कुमार ने पूरे शिक्षा व्यवस्था को निजीकरण के हवाले कर रही है। आज विवि से लेकर महाविद्यालय तक पुस्तकालय से लेकर प्रयोगशाला तक कि कोई व्यवस्था नही है। सभी के नाम पर लूट चल रही हैं। अगर पुस्तकालय और प्रयोगशाला के नाम पर हो रही लूट का जांच नही होता है तो छात्र राजद बिहार स्तर पर इस आन्दोलन को ले जाएगी।

वही आइसा राज्य सह सचिव राजू कर्ण में कहा कि विवि द्वार वोकेशनल कोर्स के नाम पर सिर्फ उगाही कर रही है। लंबा-लंबा रकम लेकर छात्रो को सिर्फ डिग्री देने की काम कर रहा है। उन्होंने ने विवि प्रशासन से मांग किया कि MBA, BBA, BCA सहित तमाम कोर्स में कैम्पस सेलेक्शन करने की मांग की है। वही संदीप कुमार ने कहा कि जब से यह कुलपति और कुलसचिव आये है तब से दो संस्था लॉ कॉलेज व डिस्टेंन्स को खत्म कर दिया गया है। उन्होंने सरकार से जल्द से जल्द चालू करने की मांग की।

यह भी पढ़ें…

वही सबा ओणम ने कहा कि मिथिला विवि प्रशासन छात्र-छात्राओ से वार्ता करने के बजाय लाठी चलवाती है। जो कि दुखद है। लाठी चार्ज करने वाले अधिकारी पर करवाई हो। कार्यक्रम में आइसा से चंदन आजाद, विशाल कुमार माझी, जयदेव कुमार, रोहित यादव, मिथिलेश यादव, मोहम्मद सहाबुद्दीन, निखिल कुमार,सबा, ओणम, छात्र राजद से छात्र राजद दरभंगा के जिला अध्यक्ष प्रवीण यादव प्रदेश महासचिव विजय कुमार आर्यन विश्वविद्यालय अध्यक्ष मनीष सम्राट इंजीनियर अजीत कुमार प्रदीप कुमार जिला उपाध्यक्ष आशुतोष कुमार सनी कुमार राहुल कुमार रितिक कुमार प्रेम कुमार अनिल कुमार यादव सहित दर्जनों लोग शामिल थे।

- Advertisement -






- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -