28.1 C
Delhi
HomeLocal newsडीएसपी पर मछली मरवाने का आरोप, न्याय के लिए पीड़ित दलित खटखटा...

डीएसपी पर मछली मरवाने का आरोप, न्याय के लिए पीड़ित दलित खटखटा रहा उच्चाधिकारियों का दरवाजा

- Advertisement -spot_img

तेघड़ा, बेगूसराय/बीपी टीम। तेघड़ा नगर पंचायत वार्ड 14 निवासी शंकर पासवान ने डीआईजी सहित कई वरीय पुलिस पदाधिकारियों को पत्र लिखकर तेघड़ा डीएसपी ओमप्रकाश पर उसके गड्ढे से मछली मरवाने का आरोप लगाते हुए न्याय की गुहार लगाई है। पीड़ित ने रजिस्टर्ड डाक से एसपी, डीआईजी, मुख्यमंत्री एवं नेता प्रतिपक्ष बिहार सरकार को शिकायती पत्र भेजा है।

पासवान का कहना है कि उसकी पुस्तैनी जमीन में एक बहुत बड़ा गड्ढा है, जिसमें मछली पालन होता है। इस बार भी मछली पालन किया। इस मछली पर कुछ स्थानीय लोगों की नजर लग गई। तेघड़ा बाजार निवासी एक ही परिवार के ओमप्रकाश गुप्ता, अमित कुमार, पीयूष कुमार आदि के द्वारा कई बार रात के अंधेरे में मछली मारने का प्रयास भी किया गया। मगर उनके द्वारा शोर मचाने पर सभी भाग जाते थे।

उन्होंने बताया कि मछली मारते समय लेकर कोई बड़ा विवाद न हो जाय, इसको लेकर उन्होंने मछली मारते समय सुरक्षा को लेकर तेघड़ा थाना को सूचना दी। उस मछली विवाद की भनक डीएसपी ओमप्रकाश को लगी। उन्होंने 25 दिसम्बर को तेघड़ा थाना से चौकीदार मंतोष महतो, संजीत पासवान आदि को भेजकर मछली मरवा लिया।

चौकीदार को मछली मारते देख उन्होंने थाना में फोन किया तो प्रभारी थानाध्यक्ष अमर कुमार ने डीएसपी से बात करने की बात कही। पुलिस नहीं आई और विपक्षी लोग मछली मारकर आराम से लेते चले गए। जिसका विडियो फुटेज एवं थाना में फोन करने का ऑडियो रिकॉर्डिंग भी पीड़ित के पास मौजूद है।

उसी दिन 10 बजे के बाद थाना पर लिखित आवेदन देने पहुंच तो दरोगा अमर कुमार गंदी गालियां देते हुए फिर कहा कि डीएसपी साहब के पास जाओ और आवेदन नही लिया। उन्होंने डाक द्वारा एसपी बेगूसराय, मुख्यमंत्री, बिहार सरकार एवं डीजीपी को आवेदन भेजकर कारवाई की मांग की है।

यह भी पढ़ें…

क्या कहते है एसपी : घटना के संबंध में एसपी योगेंद्र कुमार ने पूछने पर बताया कि इस संबंध में अभी तक कोई शिकायत नहीं पहुंची है। शिकायत सामने आने पर इसकी जांच की जाएगी। उसके बाद आवश्यक कार्रवाई की जाएगी।

- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -