29.1 C
Delhi
HomeLocal newsपूर्व बीडीसी सदस्य के पुत्र समेत पांच शराब कारोबारी गिरफ्तार, 31 लीटर...

पूर्व बीडीसी सदस्य के पुत्र समेत पांच शराब कारोबारी गिरफ्तार, 31 लीटर शराब जब्त

- Advertisement -

बेतिया/अवधेश कुमार शर्मा। पश्चिम चम्पारण जिले में कई थानों की पुलिस ने लौरिया थानाक्षेत्र के कई गांवों में शराब कारोबारियों को विरुद्ध सर्च अभियान चलाते हुए गोनौली-डूमरा पंचायत के विभिन्न गांवों से पांच व्यक्तियों को शराब के साथ रंगेहाथ गिरफ्तार कर उन्हें शनिवार को न्यायालय को सौंप दिया।

लौरिया के गोनौली-डूमरा पंचायत के परोराहा निवासी पूर्व पंचायत समिति चंदन राव का पुत्र भी शराब के कारोबार में गिरफ्तार किया गया है। प्रभारी थानाध्यक्ष केपी यादव ने बताया कि सर्च ऑपरेशन में परोराहा निवासी चंदन राव का पुत्र विवेक राव और रामनारायण के पुत्र दिलीप राव को गिरफ्तार किया गया है। वे शराब का चोरी-छुपे कारोबार करते हैं। उनके पास से शराब मिली है।

सिरकहिया धांगड़टोली में छापेमारी में धर्मेंद्र धांगड़ की पत्नी आभा देवी और बोधि धांगड़ का पुत्र बीरेंद्र धांगड़ को दबोचा गया। उधर, धोबनी पंचायत के लिपनी गाँव में सिपाही महतो के पुत्र इंद्रजीत महतो को गिरफ्तार किया गया है। उपर्युक्त पांचों को पुलिस ने न्यायालय को सुपुर्द कर दिया है। उनके पास से कुल 31 लीटर अवैध शराब बरामद की गई है। उधर, पुलिस के लगातार सघन जाँच से शराब बेचने और पीने वालों में हड़कंप मचा हुआ है। पुलिस ने पुछताछ को अन्य को हिरासत में लिया है, जिनसे पुलिस सघन पूछताछ कर रही है ।
देवराज क्षेत्र का मुख्य शराब अड्डा है देउरवा : सबीना पुर्व समिति सदस्य देउरवा

शराबबंदी में जहरीली शराब से मौत, सहसा इस पर विश्वास नहीं होता, अलबत्ता यह फ़साना नहीं हक़ीक़त है। अब लगभग डेढ़ दर्जन लोगों की जहरीली शराब से मौत के बाद लोग इसके विरुद्ध चैतन्य हो रहे हैं। अब धीरे-धीरे लोग शराबियों के विरुद्ध गोलबंद होने लगे हैं और उनके विरुद्ध बोलने के लिए मुखर होने लगे हैं। इधर, देउरवा में 5-6 दिनों में जहरीली शराब पीने से लगभग डेढ़ दर्जन व्यक्ति की मौत ने देवराज (पश्चिम चम्पारण) व पूरे बिहार के प्रशासन व सत्ता के गलियारों को हिलाकर रख दिया है। जिसको लेकर अब लोग शराब निर्माण व विक्री करने वालों के विरुद्ध मुखर व गोलबंद होने लगे हैं।

इसी कड़ी में देवराज के देउरवा पंचायत में काला बाजारी खिलाफ पंचायत के लोगों में काफी आक्रोश है। इधर इसी पंचायत की बीडीसी की पूर्व सदस्य सबीना खातून ने बताया कि शराब के बारे में क्या बात किया जाए। सबीना ने आरोप लगाया कि यहां के सभी लोगों को सब पता है कि कहां-कहां दारु का कारोबार है और कौन-कौन करता है, लेकिन यह सब कुछ जानकर पुलिस अनजान क्यों बनी रहती है। उन्होंने सवाल किया कि आखिर शराब आता कहां से है। पीने वाले देउरवा या अन्य जगहों से लाकर पीते है, उसकी जांच होनी चाहिए। इधर, खातून के बयान से सभी चौक चौरोहे गुलज़ार हो गए हैं।

यह भी पढ़ें…

- Advertisement -



- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -