20.1 C
Delhi
HomeLocal newsमहंत नरेंद्र गिरि मौत मामला : सुरक्षा ड्यूटी में तैनात 11 पुलिसकर्मी...

महंत नरेंद्र गिरि मौत मामला : सुरक्षा ड्यूटी में तैनात 11 पुलिसकर्मी शक के दायरे में

- Advertisement -


दिवाकर श्रीवास्तव/स्टेट डेस्क। उत्तर प्रदेश सरकार ने अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की मौत के मामले में सीबीआई जांच की सिफारिश कर दी है। महंत नरेंद्र गिरि को सरकार की तरफ से वाई श्रेणी की सुरक्षा मिली हुई थी और उनके लिए 11 सुरक्षाकर्मी 24 घंटों तैनात रहते थे। ऐसे में सवाल यह उठ रहा है कि अगर महंत नरेंद्र गिरि ने फांसी लगाई तो वे उस वक्त कहां थे।

फिलहाल पुलिस ने उनकी सुरक्षा में लगे गनर अजय सिंह एवं मनीष शुक्ल समेत चार सुरक्षाकर्मियों से पूछताछ की है। बताया जा रहा है कि पुलिस अन्य सुरक्षाकर्मियों से भी पूछताछ कर सकती है। महंत नरेंद्र गिरि की वाई श्रेणी की सुरक्षा में तैनात सभी 11 पुलिसकर्मियों से पूछताछ होगी। उनकी भूमिका की भी जांच होगी कि मौत के वक्त सभी पुलिसकर्मी कहां थे?

जानकारी के मुताबिक भूमिका संदिग्ध होने पर सुरक्षा में तैनात पुलिसकर्मियों पर लापरवाही बरतने के आरोप पर कार्रवाई भी हो सकती है। उल्लेखनीय है कि आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोप में गिरफ्तार स्वामी आनंद गिरि ने भी उनकी सुरक्षा में तैनात गनर अजय सिंह और मनीष शुक्ल पर हत्या की साजिश का आरोप लगाया है।

यह भी पढ़ें…

स्वामी आनंद गिरि ने कहा है कि गुरुजी आत्महत्या नहीं कर सकते। उनकी हत्या कर उन्हें फंसाया जा रहा है। इस पूरी साजिश में गनर अजय सिंह और मनीष शुक्ल शामिल हो सकते हैं। उन्होंने कहा था कि महारज जी ने मनीष शुक्ल की शादी करवाई थी और पांच से सात करोड़ रुपये घर बनवाने के लिए भी दिया था।

- Advertisement -










- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -