31.1 C
Delhi
HomeLocal newsमुजफ्फरपुर : डीएम ने दिया सभी अपूर्ण एवं लम्बित विकास योजनाओं को...

मुजफ्फरपुर : डीएम ने दिया सभी अपूर्ण एवं लम्बित विकास योजनाओं को शीघ्र पूरा करने का निर्देश

- Advertisement -spot_img

मुजफ्फरपुर/ब्रह्मानंद ठाकुर। जिलाधिकारी मुजफ्फरपुर प्रणव कुमार की अध्यक्षता में आज समाहरणालय सभाकक्ष में डिस्ट्रिक्ट प्रोजेक्ट मोनेटरिंग ग्रुप से संबंधित अधिकारियों के साथ समीक्षात्मक बैठक की गई। बैठक में जिलाधिकारी ने स्पष्ट निर्देश दिया कि लंबित योजनाओं के पूर्णता की दिशा में गंभीर प्रयास करें। साथ ही योजनाओं के क्रियान्वयन के क्रम में तय विशिष्टयो व मानकों का अक्षरशःअनुपालन करना सुनिश्चित किया जाए।

डीएम को जगन्नाथ मिश्रा कॉलेज के पास बूढ़ी गंडक पर तैयार पुल के एप्रोच पथ से संबंधित समीक्षा के क्रम में बताया गया कि भू अर्जन से संबंधित भुगतान हेतु लगभग 60 करोड़ का एस्टीमेट तैयार कर भेजा गया है परंतु पुल निर्माण निगम द्वारा उक्त राशि अभी तक जिला भू अर्जन को उपलब्ध नहीं कराई गयी है। इस कारण एप्रोच पथ से संबंधित भू अर्जन की प्रक्रिया प्रारम्भ करने में विलंब हो रहा है।

जिला भू-अर्जन अधिकारी ने बताया कि ससमय राशि मिलने पर ही अवार्ड घोषित होगा और तत्पश्चात कैंप लगाकर भुगतान की प्रक्रिया की जाएगी। जिलाधिकारी ने पुल निर्माण निगम के कार्यपालक अभियंता को इस बाबत निर्देश दिया कि राशि की उपलब्धता की दिशा में विभागीय समन्वय स्थापित कर अग्रेतर कार्रवाई करना सुनिश्चित किया जाए। पूर्व में बाढ़ से क्षतिग्रस्त हुए सड़कों को मोटरेबल कराने का निर्देश दिया गया था।

इस संबंध में जानकारी दी गई कि संबंधित सड़कों की मरम्मती कर दी गई है और इसकी सूची जिला योजना कार्यालय को उपलब्ध करा दी गई है। जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि वरीय उपसमहर्ताओं के द्वारा उपलब्ध कराई गई सूची के अनुसार संबंधित सड़क जिसकी मरम्मत की गई है उसकी जांच कराई जाएगी। साथ में ग्रामीण कार्य विभाग के कार्यपालक अभियंता को निर्देशित किया गया कि संभावित बाढ़ के मद्देनजर अलर्ट रहें एवं ग्रामीण सड़कों की सुरक्षा अक्षुण्ण रखने की दिशा में गंभीरता पूर्वक कार्य करें। यदि सड़क क्षतिग्रस्त होते हैं तो तत्काल उस रीस्टोर कराना सुनिश्चित करेंगे।

पूर्व में शहर में सड़कों के बीचो -बीच खतरनाक पोल को चिन्हित किया गया था जिसे हटाने का निर्देश भी दिए गए थे। जिलाधिकारी ने विद्युत कार्यपालक अभियंता को निर्देशित किया कि ऐसे खतरनाक कितने पोल हटाए गए इसकी सूची उपलब्ध कराई जाए।साथ ही वैसे विद्युत पोल जो अनुपयोगी हैं जिनका कोई उपयोग नहीं है उसे चिन्हित करते हुए नगर निगम से समन्वय स्थापित कर उन पोलों को हटाने की कार्रवाई करना सुनिश्चित की जाए।

एनटीपीसी से संबंधित एस पाइप लाइन निर्माण की समीक्षा की गई। बताया गया कि इसमें लगभग 80% लोग बचे हुए हैं जिन के द्वारा भुगतान अभी तक नहीं लिया गया है। इसमें कुल 35.6 एकड़ जमीन सन्निहित है, के विरुद्ध 8.55 एकड़ जमीन का मुआवजा भुगतान कर दिया गया है। शेष ग्रामीण मुआवजा लेने से इंकार कर रहे हैं तथा आवासीय एवं वर्तमान दर से मुआवजा भुगतान की मांग कर रहे हैं। इस संबंध में बार-बार माइकिंग के द्वारा एवं हाउस टू हाउस संपर्क कर लोगों को जमीन का मुआवजा लेने का अनुरोध किया गया। कई बार कैम्प लगाए गए परंतु ग्रामीणों द्वारा मुआवजा नहीं लिया जा रहा है। निर्देश दिया गया कि उस राशि को प्राधिकार में जमा करा दी जाए।

मेकअप वाटर पाइप लाइन के संबंध में बताया गया कि अभी अंचल अधिकारी कांटी के द्वारा 0 .8425 एकड़ भूमि का एलपीसी एवं सत्यापन प्रतिवेदन नहीं दिया गया है। जिसके कारण आगे की कार्रवाई लंबित है। इस पर सख्त नाराजगी प्रकट की गई और निर्देश दिया गया कि अंचल अधिकारी से इस संबंध में समन्वय स्थापित कर एलपीसी प्राप्त करें। बाजार समिति परिसर के अंदर सड़क एवं नाला का निर्माण तेजी से हो रहा है परंतु परिसर के बाहर सड़क किनारे नाला नहीं होने के कारण परिसर के जल का निकासी संभव नहीं हो सकेगा। इस संबंध में आरसीडी को निर्देश दिया गया की सभी संबंधित विभागों से समन्वय स्थापित कर परिसर के बाहर सड़क के किनारे नाला निर्माण से संबंधित प्रस्ताव बनाकर पुल निर्माण निगम को भेजा जाए।

मीनापुर एवं मुरौल में सड़क निर्माण हेतु सतत लीज पर जमीन नहीं मिल पाया जिसके पश्चात पूर्ण भू अर्जन की कार्रवाई की जा रही है। जिला भूअर्जन अधिकारी द्वारा बताया गया की मीनापुर से संबंधित एस आई की कार्रवाई पूरी हो गई है 11(1) के द्वारा नोटिफिकेशन किया जाना है।जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि इस संबंध में शीघ्र कार्रवाई करना सुनिश्चित करें।
पानी टंकी चौक /मिठनपुरा चौक मुख्य सड़क में नाला सफाई और मरम्मती के कार्य में आने वाले अतिक्रमण को हटाने के संबंध में निर्देशित किया गया। अनुमंडल पदाधिकारी पूर्वी को निर्देश दिया गया कि पुनः डेट निर्धारित कर अतिक्रमण हटाना सुनिश्चित करेंगे।

यह भी पढ़ें…

बैठक में इसके अतिरिक्त पथ निर्माण विभाग पथ प्रमंडल 1एवं 2 के तहत विभिन्न योजनाओं ,नई रेल परियोजनाओं , बुडको द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं एवं भारतीय राष्ट्रीय उच्च पथ/भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण द्वारा क्रियान्वित योजनाओं की समीक्षा की गई और उनकी पूर्णता की दिशा में तीव्र गति से कार्य करने का निर्देश दिया गया। बैठक में नगर आयुक्त विवेक रंजन मैत्रेय, अपर समाहर्ता राजस्व राजेश कुमार, अनुमंडल अधिकारी पश्चिमी बृजेश कुमार, डीसीएलआर पूर्वी जयचंद यादव, जिला योजना अधिकारी बबन कुमार, जिला जन-संपर्क अधिकारी कमल सिंह, कार्यपालक अभियंता भवन निर्माण,आरसीडी,विद्युत तथा अन्य तकनीकी विभागों के कार्यपालक अभियंता/ सहायक अभियंता उपस्थित थे।

- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -