28.1 C
Delhi
HomeLocal newsतिहाड़ जेल में बंद कुख्यात विकास झा उर्फ कालिया की शिवहर व्यवहार...

तिहाड़ जेल में बंद कुख्यात विकास झा उर्फ कालिया की शिवहर व्यवहार न्यायालय में हुई पेशी

- Advertisement -

शिवहर/रंजीत मिश्रा। जिले के टेक्नो पावर इंजीनियर हत्याकांड तथा जिले के चर्चित पूर्व विधानसभा प्रत्याशी श्रीनारायण सिंह हत्याकांड मामले को लेकर शार्प शूटर विकास झा उर्फ कालिया की गुरुवार को शिवहर जिला व्यवहार न्यायालय में पेशी की गई।

जिला पुलिस प्रशासन ने बताया कि 49/ 20 कांड में विकास झा उर्फ कालिया को शिवहर व्यवहार न्यायालय में पेश किया गया। कालिया की न्यायालय में पेशी को लेकर सुबह से ही पुलिस प्रशासन के द्बारा सुरक्षा के पुख्ता प्रबंध किए गए थे। जिला गेट, अनुमंडल गेट, व्यवहार न्यायालय गेट को पूरी तरह से सील कर दिया गया था। किसी को भी आने जाने पर काफी जांच कर आने जाने दिया जा रहा था।

गौरतलब हो कि सीतामढ़ी जिले के बथनाहा थाना के पूर्वी पंचायत निवासी विकास झा उर्फ कालिया के विरुद्ध हत्या ,रंगदारी, लूट जैसे कई मामले दर्ज हैं। उसकी आपराधिक पृष्ठभूमि गांव से ही रही है। किशोरावस्था में ही हत्या के मामले में उसे बाल सुधार गृह मुजफ्फरपुर भेजा गया था, वहां से वह फरार हो गया था।

दरभंगा डबल इंजीनियर हत्याकांड में नाम आने वाले अपराधियों में विकास झा उर्फ कालिया भी है। अंडा व्यवसायी सुरेश महतो की हत्या बाजपट्टी के मसहा में, संवेदक अनुपम की हत्या लगमा में, सुपरवाइजर की हत्या समेत दर्जनों हत्या के मामले मे कालिया का नाम दर्ज है।

संवेदक हत्याकांड की तफ्तीश के दौरान पुलिस ने 18 अगस्त 2013 को विकास झा उर्फ कालिया को उसके एक सहयोगी के साथ गिरफ्तार किया था, तब से वह जेल में बंद है। फिलहाल वह तिहाड़ जेल में बंद था, जिसे आज शिवहर कोर्ट में पेशी के लिए लाया गया। पेशी के दौरान कोर्ट परिसर से 3 फरवरी 2014 को हथकड़ी के साथ यह कुख्यात शूटर फरार हो गया और इसके दौरान संतोष झा गैंग में रहकर सीतामढ़ी के अलावा उत्तर बिहार के तमाम जिलों में इसने अनेकों वारदातों को अंजाम दिया था।

कुख्यात अपराधी कालिया शुरुआत में मोबाइल बनाने का काम करता था। कालिया संतोष झा एंड कंपनी में युवा पीढ़ी को शामिल करने में लग गया। विकास झा कुख्यात गैंगस्टर संतोष कुमार झा एवं मुकेश पाठक गिरोह का शार्प शूटर माना जाता है ।वह नॉर्थ लिबरेशन आर्मी का सक्रिय सदस्य है तथा हत्या के मामले में वह सजायफ्ता भी है। पेशी के दौरान एसडीपीओ संजय कुमार पांडेय ,प्रशिक्षु डीएसपी ,नगर थाना अध्यक्ष सह इंस्पेक्टर रघुनाथ प्रसाद सहित कई इंस्पेक्टर, पुलिसकर्मी सुरक्षा के दृष्टिकोण से मौजूद थे।
यह भी पढ़ें…

- Advertisement -



- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -