13.1 C
Delhi
HomeLocal newsउन्नाव : अलग-अलग सड़क दुर्घटनाओं में दो दोस्तों समेत तीन युवकों की...

उन्नाव : अलग-अलग सड़क दुर्घटनाओं में दो दोस्तों समेत तीन युवकों की मौत

- Advertisement -

उन्नाव/बीपी प्रतिनिधि। उन्नाव-शुक्लागंज मार्ग पर अकरमपुर स्थित एक फैक्टरी के सामने देर रात ट्रक ने बाइक को टक्कर मार दी। हादसे में दो दोस्तों की मौत हो गई। बेहटामुजावर थाना क्षेत्र में अज्ञात वाहन की टक्कर से बाइक सवार युवक की मौत हो गई।

हेलमेट न लगा होने से सिर में गंभीर चोट मौत की वजह बनी। हादसों में मौत से तीनों के परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल रहा। शहर के हिरननगर निवासी अप्रवासीय भारतीय प्रकाश का 20 वर्षीय बेटा पवन विमल शुक्रवार रात मोहल्ले के दोस्त 18 वर्षीय नीरज कश्यप पुत्र उमाशंकर के साथ बाइक से एक अन्य दोस्त से मिलने मगरवारा गया था।

देर रात दोनों बाइक से घर लौट रहे थे। अकरमपुर स्थित एक फैक्टरी के पास ट्रक ने बाइक को टक्कर मार दी। हेलमेट न लगा होने से सिर में गंभीर चोट आने से पवन की मौके पर मौत हो गई। नीरज ने जिला अस्पताल में दम तोड़ दिया। पवन के पिता प्रकाश विमल की तहरीर पर पुलिस ने अज्ञात ट्रक चालक के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की है।

पवन के पिता कुवैत में नौकरी करते थे। तीन साल से वह घर पर ही रह रहे हैं। चार भाईयों में पवन तीसरे नंबर का था। उसके दो भाई संदीप और प्रदीप कुवैत में हैं। पवन की मौत से मां निर्मला व पिता प्रकाश का रो-रोकर बुरा हाल रहा। मृतक नीरज चार भाइयों में दूसरे नंबर का था। फल का ठेला लगाकर वह परिवार का गुजारा चलाता था।

हरदोई के कासिमपुर थाना क्षेत्र के पखरपाटी गांव निवासी 24 वर्षीय राहुल की भांजी दामिनी की 28 जनवरी को बरात आनी है। शुक्रवार को राहुल भांजी की शादी के कार्ड बांटने के लिए बांगरमऊ क्षेत्र में रहने वाले मामा मूलचंद्र के घर आया था। शनिवार सुबह 11 बजे वह बाइक से घर लौट रहा था। बेहटामुजावर थाना क्षेत्र के संडीला मार्ग स्थित मटुकरी चौराहा के निकट तेज रफ्तार अज्ञात वाहन ने बाइक में टक्कर मार दी।

यह भी पढ़ें…

हेलमेट न लगा होने से सिर में गंभीर चोट से वह सड़क किनारे मदद के लिए कराहता रहा। राहगीर मदद की जगह वीडियो बनाते रहे। दो घंटे बाद एक राहगीर ने एंबुलेंस की मदद से उसे सीएचसी पहुंचाया। वहां डॉक्टर ने राहुल को मृत घोषित कर दिया। राहुल की मौत से मां रामवती, भाई प्रमोद, कुलदीप, संदीप व तीन विवाहित बहनों का रो-रोकर बुरा हाल रहा।

- Advertisement -






- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -