10.1 C
Delhi
HomeLocal newsफर्जी प्रमाण पत्र से चुनाव लड़ने पर महिला ग्राम प्रधान गिरफ्तार

फर्जी प्रमाण पत्र से चुनाव लड़ने पर महिला ग्राम प्रधान गिरफ्तार

- Advertisement -

मुरादाबाद/बीपी टीम। रामपुर की स्वार तहसील में फर्जी जाति प्रमाण पत्र बनवाकर प्रधान की कुर्सी कब्जाने में आरोपित महिला प्रधान को रविवार को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। ब्लाक क्षेत्र के ग्राम केशोनगली ग्राम पंचायत में अनुसूचित जाति की महिला के लिए सीट आरक्षित थी। त्रिस्तारीय पंचायत चुनाव में इस सीट से शकुंतला प्रधान चुनी गईं।

इसके बाद गांव के ही ग्रामीण दिलदार हुसैन ने महिला प्रधान का जाति प्रमाण पत्र नेट पर चेक किया तो पता लगा कि नेट पर तो इस नंबर का प्रमाण पत्र क्षेत्र के गांव अलीनगर जागीर की राखी पुत्री हरद्वारी का है। इस पर उन्होंने शकुंतला की फर्जी जाति प्रमाण पत्र बनवाकर चुनाव जीतने की शिकायत कर दी थी। शिकायतकर्ता ने इस मामले में महिला प्रधान के पुत्र सोहन सिंह से पूछा कि फर्जी जाति प्रमाण पत्र क्यों लगाया।

इस पर उसने बताया कि प्रमाण पत्र बनवाने का समय नहीं था। इसलिए नामांकन दाखिल करने के लिए मां ने कहा था जैसा भी बने बनवा लेना, तब ऐसा करना पड़ा था। शिकायतकर्ता ने कूट रचित दस्तावेज के सहारे चुनाव जीतने की शिकायत स्थानीय अधिकारियों से की, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हो सकी थी। इस पर उसने न्यायालय की शरण ली। न्यायालय ने प्रथम दृष्टया मामला फर्जी मानते हुए पुलिस को महिला प्रधान व उसके बेटे के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करने का आदेश किए थे।

पुलिस ने प्रधान शकुंतला और उसके बेटे सोहन के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज कर लिया था। मुकदमे की विवेचना की जा रही थी। रविवार को हल्का दारोगा अशोक कुमार ने प्रधान के घर दबिश दी और आरोपित प्रधान को गिरफ्तार कर लिया, जबकि एक आरोपित फरार है। कोतवाल हरेन्द्र सिंह ने बताया की फर्जी प्रमाण पत्र को लेकर प्रधान के खिलाफ धोखाधड़ी की रिपोर्ट दर्ज है। उसे गिरफ्तार कर लिया है।

यह भी पढ़ें…

- Advertisement -






- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -