15.1 C
Delhi
Homeमोतिहारीचंपारण : शराब कारोबार के विरोध पर हुई एयरफोर्स अधिकारी की हत्या,...

चंपारण : शराब कारोबार के विरोध पर हुई एयरफोर्स अधिकारी की हत्या, सम्मान के साथ दी गई अंतिम विदाई

- Advertisement -
  • परिजनों ने कहा शिथिलता बरतने वाले संग्रामपुर थाना प्रभारी का हो तबादला

मोतिहारी / राजन दत्त द्विवेदी :
सुशासन की सरकार में बिहार में पूर्ण शराबबंदी है। लेकिन, पुलिस की निष्क्रियता के कारण शराब करोबारियों का हौसला सातवें आसमान पर है। इसी कड़ी में शराब कारोबार का विरोध करना व अपने गांव में खेत के रास्ते शराब ढोने का विरोध करना एयरफोर्स अधिकारी को महंगा पड़ गया।

शराब कारोबारियों ने शराब ढोने के कार्य मे बाधा बनने वाले एयरफोर्स जवान की कल देर शाम निर्मम हत्या कर दी। मृतक जवान के पिता के आवेदन पर 7 नामजद सहित 20 -25 अज्ञात शराब करोबारियों पर हत्या करने का आरोप लगाकर संग्रामपुर थाना में प्राथमिकी दर्ज कराई गई है।

एएसपी अभिनव धीमान ने बताया कि आवेदन पर प्राथमिकी दर्ज कर लगातार छापेमारी की जा रही है। वही दरभंगा व गोरखपुर से पहुंचे एयरफोर्स अधिकारियों ने राजकीय सम्मान के साथ तिरंगे से लिपटा कर अंतिम सलामी दी। एयर फोर्स के शोक धुन पर अंतिम शव यात्रा निकालकर हज़ारों लोगों ने नम आंखों से मृत जवान को विदा किया।

बता दें कि बीती रात भारतीय एयर फोर्स के अधिकारी आदित्य कुमार उर्फ आलोक तिवारी की हत्या ने नया मोड़ ले लिया है। इस बीच वायु सेना के दरभंगा और गोरखपुर से आयी टीम ने अपने अधिकारी को सलामी दी। मालूम हो कि शुक्रवार की देर शाम आदित्य कुमार की हत्या शराब कारोबारियों ने चाकू से गोदकर कर दिया।

इसका खुलासा मृतक के पिता के आवेदन पर दर्ज हुई प्राथमिकी से होता है। बताया जाता है कि करीब एक महिने पहले छुट्टी पर घर आये एयर फोर्स के 40 वीं विंग के अधिकारी आदित्य कुमार थे। उनके पैतृक गांव संग्रामपुर के तिवारी टोला के समीप घुसियार गांव के उनके सरसों के खेत के बीचोबीच शराब कारोबारी रास्ता बनाकर शराब का कारोबार कर रहे थे।

जिसे मना करने पर वे लोग टूट पडे और पिता रिटायर्ड शिक्षक चन्द्रेश्वर तिवारी के सामने आदित्य कुमार की लोहें के रड को सीने में घुसेड़ दिया। रड सीने से घुसकर पीठ तक निकल गयी और वहीं तडप कर आदित्य की मौत हो गयी है। घटना के बाद स्थानीय ग्रामीणों के सहयोग से आदित्य कुमार को मोतिहारी सदर अस्पताल लाया गया। जहां डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया। घटना के चार घन्टे बाद पीडित पुलिस का इंतजार करते रहे,लेकिन संग्रामपुर थाना पुलिस मौके पर नहीं पहुंची।

आज एयर फोर्स के जवानों के श्रद्धाजंलि देने के बाद संग्रामपुर थाना में पिता के आवेदन पर प्राथमिकी दर्ज हो सकी है। जिसमें पिता चन्द्रेश्वर तिवारी ने बताया है कि उनके खेत होकर शराब के कारोबारी शराब की खेप को लाते और ले जाते थे। सरसों की बुआई के दौरान इनके द्वारा बनायी गयी सड़क टूट गयी। जिसे वे फिर से मरम्मत कर रहे है। अपने खेत में सड़क बनाने से रोकने पर शराब कारोबारियों ने चाकू से गोदकर हत्या कर दिया है। हुजूर थाना प्रभारी कभी क्षेत्र में आते ही नहीं है।

थाना प्रभारी की मिलीभगत से शराब कारोबारियों का मनोबल सतावे स्थान पर है। शराब कारोबारियों का मनोबल बढ़ने का कारण है कि गांव का एक बेटा आज शहीद हो गया। आप ही पर विश्वास है। अब आप ही को न्याय दिलाना है। हमलोग निहत्थे है। उस सबके पास गोली बंदूक व हथियार भी है। उक्त बातें शव के पोस्टमार्टम के बाद दरवाजे पर पहुचने के बाद एएसपी अभिनव धीमान व एसडीओ संजीव कुमार से परिजन सहित गांव के लोग अपनी व्यथा सुना रहे थे। एएसपी धीमान लोगों को कार्रवाई करने व न्याय दिलाने का आश्वासन दिए।

ग्रामीण यह भी कह रहे थे कि शराब कारोबारियों ने तत्कालीन थाना अध्यक्ष पंकज कुमार सहित कई से मारपीट भी कर चुके है। पूर्व के थाना अध्यक्ष लगातर छापेमारी करते थे। लेकिन वर्तमान थाना अध्यक्ष कभी नहीं आते। ग्रामीणों ने थाना अध्यक्ष को भी हटाने व शराब कारोबार को बंद करने की मांग किया गया। ग्रामीणों व सगा सम्बन्धियो ने बताया कि शराब कारोबारियों का अपने खेत होकर जाने वाला रास्ता रोकने को लेकर एयर फोर्स अधिकारी आलोक तिवारी की हत्या की घटना को अंजाम दिया गया है।

वही मृतक के पिता ने गांव की सुरक्षा व शराब कारोबार पर रोक लगाने के लिए सीआरपीएफ कैम्प रखने की मांग किया गया। एएसपी अभिनव धीमान ने बताया कि रास्ता के विवाद को लेकर हत्या हुआ है। पिता के आवेदन पर प्राथमिकी दर्ज कर लिया गया है। घटना के बाद से ही छापेमारी की जा रही है। जल्द ही सभी आरोपियों की गिरफ्तारी कर लिया जाएगा। वही गांव की सुरक्षा को लेकर दो सेक्शन फोर्स लगाया जा रहा है।

वही एसपी कुमार आशीष ने बताया कि एयर फोर्स के अधिकारी आदित्य कुमार की हत्या जमीन के विवाद में हुई है। हत्या में शामिल सभी आरोपी फरार हैं। जिन्हे गिरफ्तार करने का प्रयास किया जा रहा है। इस बीच एयर फोर्स के अधिकारियों की जांच टीम गोरखपुर से आदित्य कुमार के पैतृक गांव पहूंचकर हत्या के मामले की जांच शुरु किया है।

- Advertisement -






- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -