30.1 C
Delhi
Homeमोतिहारीचंपारण : अपने जीवन को बचाने के लिए पर्यावरण को बचाना जरुरी...

चंपारण : अपने जीवन को बचाने के लिए पर्यावरण को बचाना जरुरी : अनमोल

- Advertisement -

मोतिहारी / राजन द्विवेदी : जंगल हैं तो वन्य जीव हैं। जल है तो जलीय जीवों का अस्तित्व है और उससे भी ज्यादा अहम हमारे जीवन का अस्तित्व है।जल, जंगल और जमीन, इन तीन तत्वों के बिना प्रकृति की कल्पना नहीं की जा सकती है। दुनिया में सबसे समृद्ध देश वही हुए हैं, जहां जल, जंगल और जमीन पर्याप्त मात्रा में हों। हमारा देश नदियों, जंगल और वन्य जीवों के लिए दुनियाभर में प्रसिद्ध है। प्रकृति बची रहेगी, तभी जीवन बचेगा।

इसी के प्रति जागरूकता के उद्देश्य से पेड़ लगाए जीवन बचाए अभियान के द्वारा 28 जुलाई को विश्व प्रकृति संरक्षण दिवस मनाएगा पेड़ लगाए जीवन बचाए अभियान के संस्थापक अध्यक्ष अनमोल तिवारी ने कहा कि प्राकृतिक संसाधनों की सुरक्षा को लेकर दुनियाभर के लोगों के बीच जागरूकता पैदा करने की जरूरत है। एक स्वस्थ माहौल ही स्थिर और उत्पादक समाज की बुनियाद होता है और विश्व प्रकृति संरक्षण दिवस भी ऐसे ही विचारों पर आधारित है। इस दिवस की महत्ता इसलिए भी है कि प्रकृति संरक्षण के जरिए ही मौजूदा और आनेवाली पीढ़ियों का भविष्य सुरक्षित और कल्याण सुनिश्चित किया जा सकता है।

विश्व प्रकृति संरक्षण दिवस का उद्देश्य प्रकृति के संरक्षण के लिए जरूरी कदम उठाना है। प्रकृति में असंतुलन होने के कारण ही हमें आपदाओं का सामना करना पड़ता है। ग्लोबल वॉर्मिंग, महामारियां, प्राकृतिक आपदा, तापमान का अनियंत्रित तौर पर बढ़ता जाना आदि समस्याएं प्रकृति में असंतुलन के कारण ही पैदा होती हैं। देश पहले से ही कोरोना महामारी से जूझ रहा है और कई राज्य बाढ़ जैसी प्राकृतिक आपदा झेल रहे हैं। पिछले कुछ दिनों से लगातार कई भूकंप भी आ चुका है और आगे भी आने की संभावना जताई गई है।

हम छोटे-छोटे प्रयासों से प्रकृति का संरक्षण कर सकते हैं। अगर हमें प्रशाशन अनुमति देगी तो 28 जुलाई को हाथों में पौधा लेके पर्यावरण संरक्षण यात्रा निकालना चाहते है ।वही अभियान के महासचिव नीरज कुशवाहा ने कहा कि अगर यात्रा निकालने की अनुमति न मिले तो हमलोग अभियान के सदस्यों के साथ जगह चयन कर पौधा रोपण करेंगे लोगो को पर्यावरण के प्रति जागरूक करने का प्रयाश है ।जगह चयन की जम्मेवारी अभियान के पूर्वी चंपारण जिला प्रभारी अंकित मिश्रा की होगी ।

यह भी पढ़े….

- Advertisement -



- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -