32.1 C
Delhi
Homeमोतिहारीमोतिहारी : शोषण के शिकार 18 जन वितरण प्रणाली विक्रेताओं ने सदर...

मोतिहारी : शोषण के शिकार 18 जन वितरण प्रणाली विक्रेताओं ने सदर एसडीओ को पत्र देकर लगाई गुहार

- Advertisement -

मोतिहारी/राजन दत्त द्विवेदी : पूर्वी चंपारण जिला के बंजरिया प्रखंड में जन वितरण प्रणाली से जुड़ा एक बड़ा मामला सामने आया है। इस प्रखंड के 18 जन वितरण प्रणाली विक्रेताओं ने सदर एसडीओ सुमन सौरभ यादव को आवेदन देकर उनके साथ हो रहे शोषण, गोदाम ठेकेदार तथा जन वितरण प्रणाली के एक दुकानदार नंदलाल साह पर कई गंभीर आरोप लगाया है।

सदर एसडीओ को दिए पत्र में जन वितरण विक्रेताओं ने बताया है कि 3 रूपए प्रति बोरा की दर से अनलोडिंग चार्ज लिया जा रहा है। वहीं बंजरिया के जन वितरण प्रणाली दुकानदार नंदलाल साह द्वारा 50 रूपए प्रति क्विंटल की दर से अवैध वसूली की जा रही है।

बताया गया है कि नगद राशि नहीं देने पर प्रति क्विंटल 10 किलो गेहूं व चावल काट लिया जाता है। उक्त राशि व अनाज नहीं दिए जाने पर दुकान की जांच कराने व लाइसेंस रद्द करवाने की धमकी दी जाती है। उन्होंने बताया है कि ऐसा नहीं करने पर दुकानदारों से स्पष्टीकरण पूछा गया है|

मानसिक रूप से परेशान हैं जन वितरण प्रणाली दुकानदार :

इसके कारण सभी जन वितरण प्रणाली दुकानदार मानसिक रूप से परेशान है। उन्होंने बताया कि ऐसा मामला पहले भी देखने को मिला है। लेकिन मामले की जांच करने के बजाय मामले को रफा-दफा करने के कारण जिले में जन वितरण प्रणाली में फैले वसूली सिंडिकेटों का मनोबल बढ़ गया है। साथ ही यह सिलसिला अनवरत जारी है। इस वसूली मामले में जिले के कई सफेदपोश अधिकारी व जन वितरण प्रणाली दुकानदार संलिप्त हैं।

इस मामले की यदि गहनता से जांच की जाएं, तो कई बड़े खुलासे हो सकते हैं। फिलहाल बंजरिया प्रखंड के 18 दुकानदारों ने मामले का खुलासा कर पूरे जिले में सनसनी फैला दी है। पीडीएस दुकानदार संघ के प्रदेश महामंत्री रामाकांत के नेतृत्व में 18 जन वितरण प्रणाली दुकानदारों फैयाज अहमद, मुकेश कुमार, आसिफ एकबाल, मनोज कुमार पांडेय, कृष्ण कुमार वर्मा, रामानूप प्रसाद, जवाहर प्रसाद, सुबोध कुमार, हरिशंकर प्रसाद, भरत पडित, नागेन्द्र राय, राजू यादव, मो. दाऊद, योगेंद्र शर्मा, रजनीश कुमार, जालंधर कुमार आदि ने पूरे मामले की जानकारी सदर एसडीओ को दिया है। इस मामले को जानने के बाद सदर एसडीओ ने उपरोक्त मामले की समुचित जांच कर कार्रवाई करने का भरोसा दिलाया है। अब देखना यहीं है कि आखिर सदर एसडीओ इन विक्रेताओं को न्याय कब तक दिलाते हैं। साथ ही दोषियों पर कार्रवाई कबतक होती है।

यह भी पढ़े…

- Advertisement -


- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -