CORONA EFFECT : कनाडा, ब्रिटेन, सऊदी अरब, न्यूजीलैंड समेत कई देशों ने लगाया भारतीय उडानों पर प्रतिबंध

(सेंट्रलडेस्क , नयी दिल्ली ) । भारत कोरोना संक्रमण की सुनामी को ध्यान में रखकर कनाडा, ब्रिटेन, सऊदी अरब, न्यूजीलैंड जैसे कई देशों ने भारतीय उडानों पर प्रतिबंध लगा दिया है जबकि कई देशों पाबंदी की मांग उठ रही है ।


मंगलवार को आस्ट्रेलियाई सरकार ने भारत से आने जाने वाली सभी उड़ानों को भी 15 मई, 2021 तक स्थगित करने का फैसला किया है। इससे पहले नीदरलैंड ने कहा है कि वह भारत से आने वाली सभी यात्री उड़ानों को निलंबित कर रहा है। नीदरलैंड ने 26 अप्रैल से 1 मई तक भारत से आने-जाने वाली फ्लाइट पर बैन लगा दिया है। कनाडा, ब्रिटेन, सऊदी अरब, न्यूजीलैंड, कुवैत, ओमान, हांगकांग, सिंगापुर जैसे एक दर्जन देशों ने भारत से आने जाने वाली उड़ानों पर पहले से ही रोक लगा रखी है। इस बीच, चीन ने भारत के लिए कार्गो विमानों की सेवाएं भी रद कर दी हैं।

यूरोप, मध्य पूर्व व अफ्रीका के कई देशों में विपक्षी दलों की तरफ से भारत से उड़ानों की आवाजाही पर रोक लगाने की मांग की जा रही है। भारत में कोरोना प्रभावित लोगों की बढ़ती संख्या को देखते हुए केन्या, दक्षिण अफ्रीका, फिलीफींस समेत कई देशों में भारत से उड़ानों को रोकने की मांग की जा रही है। ऐसे में आने वाले वक्त में कई अन्य देश ये कदम उठा सकते हैं। 

कई देशों ने जहां भारत में कोरोना की बढ़ती लहर को देखते हुए फ्लाइटें बैन कर दी हैं। वहीं कई देश ऐसे भी हैं जहां भारतीव विमानों को बैन नहीं किया गया है। हालांकि, यात्रियों को भारत की यात्रा से बचने की सलाह जरूर दी गई है।  फ्रांस ने बुधवार को भारत में पाए जाने वाले COVID-19 वैरिएंट के प्रसार को रोकने के लिए आने वाले दिनों में भारत से आने वाले यात्रियों के लिए 10 दिनों का क्वारंटीन लगाया है। रूसी दूतावास के वीज़ा अनुभाग ने अस्थायी रूप से भारत के COVID-19 स्थिति के कारण अगली सूचना तक अपने कार्यों को रोक दिया है। COVID-19 मामलों के चलते अमेरिका ने भारत की संभावित यात्रा के लिए ‘स्तर 4 (बहुत अधिक) चेतावनी भी जारी की है किे वे भारत में यात्रा करने से बचें, भले ही वे पूरी तरह से टीकाकरण कर रहे हों।

उधर, भारतीय विमानपत्तन प्राधिकरण ने स्पष्ट किया है कि एयरपोर्ट व उड़ानों के दौरान यात्रियों को सुरक्षित रखने का उसका रिकार्ड काफी अच्छा है। इसका सबसे बड़ा उदाहरण यह है कि 25 मई, 2020 से 26 अप्रैल, 2021 के दौरान भारत के हवाई अड्डों से 5,78,727 उड़ानों की इजाजत दी गई जिसमें 6.08 करोड़ यात्रियों ने सफर किया।