आतंकवाद के खिलाफ भारत के साथ सऊदी अरब, बोले सलमान- हम हर तरह से सहयोग के लिए तैयार

0
75

सेंट्रल डेस्क : सऊदी अरब के युवराज मोहम्मद बिन सलमान और पीएम मोदी के बीच प्रतिनिधिमंडल स्तर की बैठक हुई, जिसमें दोनों देशों के बीच कई समझौतों पर हस्ताक्षर हुए. बैठक के बाद साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान सऊदी अरब ने भी आतंकवाद के खिलाफ जंग में साथ देने का वादा किया है।

सऊदी प्रिंस मोहम्मद बिन सलमान ने आतंकवाद के मसले पर कहा कि हम भारत के साथ हर तरह का सहयोग करने के लिए तैयार हैं। सलमान ने कहा कि हम इंटेलिजेंस से लेकर अन्य चीजों तक के लिए आपका साथ देने को तैयार हैं। इससे पहले पीएम मोदी ने पुलवामा अटैक का जिक्र करते हुए कहा कि यह अटैक दुनिया में छाये आतंकी खतरे की बर्बर निशानी है।

आतंक का समर्थन करने वाले देशों पर दबाव बनाना जरूरी: पीएम मोदी
पीएम मोदी ने कहा कि हम इस बात पर सहमत हैं कि आतंकवाद को समर्थन दे रहे देशों पर दबाव बनाना जरूरी है। अतिवाद के खिलाफ मजबूत कार्ययोजना की जरूरत है ताकि आतंकी ताकतें युवाओं को गुमराह न कर सकें।

पीएम मोदी ने कहा, ‘मुझे खुशी है कि सऊदी अरब और हम इस संबंध में साझा विचार रखते हैं। हम इस बात पर भी सहमत हैं कि काउंटर टेररिज्म, समुद्री सुरक्षा और साइबर सिक्योरिटी के क्षेत्र में दोनों देशों के बीच संबंध और मजबूत होंगे। हमारे निमंत्रण को स्वीकार करने के लिए मैं क्राउन प्रिंस को धन्यवाद देता हूं।’

44 बिलियन डॉलर के निवेश का वादा
क्राउन प्रिंस ने कहा कि यह मेरी पहली विजिट है। मैं भारत आ चुका हूं, लेकिन प्रतिनिधिमंडल के साथ पहला दौरा है। हमारे रिश्ते खून में शामिल है और हजारों साल पुराना है। बीते 50 सालों में इन संबंधों ने और मजबूती हासिल की है। हमारे हित एक सरीखे हैं। मोहम्मद बिन सलमान ने कहा कि सऊदी अरब में आप 2016 में आए थे।

तब से अब तक हमने बहुत सारी कामयाबियां हासिल की है। हमने 44 बिलियन डॉलर के निवेश पर सहमति जताई है। सलमान ने कहा कि हम डाइवर्सिफिकेशन पर काम कर रहे हैं और भारत के साथ सहयोग करना चाहते हैं। बता दें कि इससे पहले पाकिस्तान की यात्रा में सऊदी क्राउन प्रिंस ने वहां 20 अरब डॉलर के निवेश का वादा किया है।

सऊदी नागरिकों को ई-वीजा, भारतीयों का बढ़ा हज कोटा
पीएम मोदी ने कहा कि सऊदी अरब के नागरिकों के लिए ई-वीजा का विस्तार किया जा रहा है। भारतीयों के लिए हज कोटे में इजाफे के लिए हम आभारी हैं। 2.7 मिलियन भारतीयों की सऊदी अरब में शांतिपूर्ण भागीदारी के लिए हम धन्यवाद देते हैं।

सऊदी का निवेश में स्वागत करने को तैयार
हमारे अर्थतंत्र में सऊदी अरब से संस्थागत निवेश को जगह देने के लिए सहमत हुए हैं। भारत के इन्फ्रास्ट्रक्चर में सऊदी निवेश का स्वागत है। आपका विजन 2030 मेक इन इंडिया और स्टार्टअप इंडिया के लिए पूरक की तरह है।