पीएम मोदी ने युद्धक टैंक अर्जुन सेना को सौंपा, तमिलनाडु में लगाई योजनाओं की झड़ी

बीपी न्यूज़/चेन्नई : प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने अचूक निशाने वाले देश के मुख्य युद्धक टैंक अर्जुन मार्क 1 ए को राष्ट्र को समर्पित करते हुए सेना को सौंपा। रविवार को तमिलनाडु और केरल के दौरे पर पीएम मोदी ने स्वदेशी अर्जुन मेन बैटल टैंक (एमके-1ए) चेन्नई में सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे को सौंपा। इसके बाद उन्होंने तमिलनाडु में कई विकास परियोजनाओं का उद्घाटन एवं शिलान्यास किया। इसके अलावा चेन्नई मेट्रो प्रोजेक्ट फेज-1 एक्सटेंशन का उद्घाटन भी किया।

तमिलनाडु में योजनाओं की शुरुआत के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा-आज चेन्नई से हम ई-इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट शुरू कर रहे हैं, ये प्रोजेक्ट इनोवेशन और स्वदेशी विकास के प्रतीक हैं। इनसे तमिलनाडु का और विकास होगा। उन्होंने बताया कि चेन्नई मेट्रो का तेज़ी से विकास हो रहा है। इस साल के बजट में इस प्रोजेक्ट के दूसरे चरण के लिए 63,000 करोड़ से ज़्यादा रुपये आवंटित किए गए हैं।

पीएम मोदी ने पुलवामा के शहीदों को भी श्रद्धांजलि देते हुए कहा कि दो साल पहले पुलवामा हमला हुआ था। हम उस हमले में जान गंवाने वाले अपने सभी शहीदों को श्रद्धांजलि देते हैं, हमें अपने सुरक्षा बलों पर गर्व है। उनकी बहादुरी पीढ़ियों को प्रेरित करती रहेगी।

पीएम मोदी ने आईआईटी मद्रास के डिस्कवरी कैंपस की आधारशिला भी रखी। यह कैंपस चेन्नई के पास थय्युर में बनाया जाएगा। मालूम हो कि पहले चरण में 2 लाख वर्ग मीटर से अधिक एरिया में बनने वाले इस कैंपस के निर्माण में 1000 करोड़ रुपये की लागत आएगी।प्रधानमंत्री ने ग्रैंड एनीकट नहर प्रणाली के विस्तार, नवीनीकरण और आधुनिकीकरण की आधारशिला रखी। इस नहर का आधुनिकीकरण 2,640 करोड़ रुपये की लागत से होगा, जिससे नहरों में जल वहन करने की क्षमता बढ़ेगी।

सेना को अर्जुन टैंक सौंपते हुए पीएम मोदी ने कहा कि मुझे स्वदेशी रूप से डिजाइन किए गए और बनाए गए अर्जुन मेन बैटल टैंक(एमके-1ए) को सौंपते हुए गर्व है। ये स्वदेशी गोला-बारूद का भी इस्तेमाल करता है। तमिलनाडु पहले ही भारत का ऑटोमोबाइल निर्माण का हब है, अब मैं तमिलनाडु को भारत के टैंक निर्माण के हब के रूप में विकसित होते देख रहा हूं।

पीएम मोदी ने कहा कि हमारे सशस्त्र बलों ने कई बार दिखाया है कि वो मातृभूमि की रक्षा करने में पूरी तरह से समर्थ है। उन्होंने ये भी दिखाया कि भारत शांति में विश्वास करता है लेकिन भारत किसी भी हालत में अपनी संप्रभुता की रक्षा करेगा। पीएम ने कहा श्रीलंका में हमारे मछुआरों को जब कभी पकड़ा जाता है तब हमने उनकी जल्द से जल्द रिहाई सुनिश्चित की है। हमारे कार्यकाल में 1600 से ज़्यादा मछुआरों को छुड़वाया गया, अभी श्रीलंका की हिरासत में कोई भारतीय मछुआरा नहीं है ।

इसके पूर्व चेन्नई पहुंचने पर पीएम नरेंद्र मोदी का भव्य स्वागत किया गया । उनकी एक झलक पाने के लिए हजारों लोग कतारबद्घ होकर सड़कों किनारे खड़े देखे गए। जिससे अभिभूत पीएम मोदी ने सभी का आभार भी व्यक्त किया ।