शहीद की बेटी से बोलीं प्रियंका- ‘मेरे पिता के साथ भी ऐसा ही हुआ था, आपका दुख समझ सकती हूं’

0
92

सेंट्रल डेस्क : जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में हुए फिदायीन हमले में शहीद हुए उन्नाव जिले के अजीत कुमार आजाद की बेटी ईशा से कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने फोन पर बात की. ईशा ने प्रियंका को बताया कि वह बड़ी होकर डॉक्टर बनना चाहती है. इस पर प्रियंका गांधी ने कहा, ‘हम प्रॉमिस करते हैं कि हम आपकी मदद करेंगे’. यह बातचीत उन्नाव की पूर्व कांग्रेस सांसद अन्नू टंडन ने करवाई।

इस बातचीत के बाद शहीद के पिता प्यारेलाल ने कहा, ‘प्रियंका गांधी ने जो भरोसा मेरे परिवार को दिया है, उससे इस दुख की घड़ी में हम लोगों को सदमे से उभरने में मदद मिलेगी।’ बता दें कि अजीत कुमार आजाद सीआरपीएफ की 115वीं बटालियन में तैनात थे। उनकी शहादत के बाद परिवार का हाल बेहाल है।

‘मेरे पिता के साथ भी ऐसा ही हुआ था, आपका दुख समझ सकती हूं’
इससे पहले प्रियंका ने पुलवामा के ही एक और शहीद जवान अवधेश कुमार यादव के पिता से बात की थी। वह यूपी के चंदौली के रहने वाले थे। प्रियंका ने इस दौरान कहा था, ‘मेरे पिता के साथ भी ऐसा ही हुआ था इसलिए मैं आपका दुख समझ सकती हूं।’

जम्मू कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी को सीआरपीएफ के काफिले में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी ने विस्फोटक लदे वाहन को सीआरपीएफ की बस से भिड़ा दिया था जिसमें 40 जवान शहीद हो गए थे।