‘CRPF जवानों पर आतंकी हमला हुआ, और झील में शूटिंग करते रहे PM मोदी’

0
308

सेंट्रल डेस्क : जम्मू कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले को लेकर 7 दिन तक चुप रहने के बाद अब कांग्रेस पीएम नरेंद्र मोदी को घेरना शुरू कर दी है. कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने प्रेस कांफ्रेंस कर कहा कि जब 14 फरवरी को दोपहर में पुलवामा में आतंकी हमले में हमारे 40 जवानों की शहादत हुई तो पूरा देश शोक मना रहा था. उस समय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शाम तक कॉर्बेट पार्क में एक फिल्म की शूटिंग में व्यस्त थे. क्या दुनिया में ऐसा कोई पीएम है?

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि तीन बजकर दस मिनट पर ही हमले की खबर आ गई थी. पांच बजकर 15 मिनट पर कांग्रेस ने भी रिएक्शन दे दिया था. मगर, मोदी जी क्या कर रहे थे. मोदी जी की दिनचर्या बता रहा हूं. वह दिन भर पार्क का भ्रमण करने के बाद नौका विहार और शूटिंग करवा रहे थे. छह बजकर 45 मिनट तक फिल्म की शूटिंग करते हैं, नौका विहार करते हैं. पीएम राम नगर के गेस्ट हाउस में भी कुछ देर रुके और फिर चले गए.

शाम छह बजकर 30 मिनट पर धनगढ़ी गेट पहुंचे और अधिकारियों से दस मिनट तक वार्ता की. फिर उनका काफिल निकला.वहां स्थानीय लोगों ने नरेंद्र मोदी जिंदाबाद नारे लगाए. पीएम ने भी सभी का अभिवादन किया. देश हमारे शहीदों के शरीर के टुकड़े चुन रहा था, मगर पीएम नारे लगवा रहे थे. वह राम नगर के फीडर गेस्ट हाउस रुके और चाय-नाश्ता किए. पूरे देश के चूल्हे बंद थे, तब गुरुवार को सात बजे वह चाय-नाश्ते का आनंद ले रहे थे. यह है इस देश के पीएम की असली वास्तविकता. इससे ज्यादा शर्मनाक व्यवहार किसी पीएम का नहीं हो सकता.

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि हम पुलवामा के कायराना हमले पर निर्णायक कार्रवाई की मांग करते हैं. इंदिरा गांधी ने न केवल बांग्लादेश को आजादी दिलवाई बल्कि नियाजी को 91000 पाक सैनिकों के साथ समर्पण करना पड़ा था. पाकिस्तान को इंदिरा गांधी ने धूल चटाने का काम किया था.

सुरजेवाला ने कहा, ‘हमने आतंकी हमले का करारा जवाब देने के लिए सरकार को पूरा समर्थन दिया है, लेकिन मोदीजी राजधर्म भूलकर राज बचाने में लगे हैं. सत्ता की भूख में मोदीजी ने इंसानियत को भुला दिया है.’

कांग्रेस ने कहा कि मोदी और शाह को आतंकी हमले पर राजनीति करने की पुरानी आदत है. अमित शाह जवानों की शहादत पर राजनीति कर रहे हैं. शाह कांग्रेस के खिलाफ भड़काऊ भाषण दे रहे थे. असम की रैली में शाह ने कहा कि शहीदों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा, क्योंकि कांग्रेस नहीं बीजेपी की सरकार है.

सुरजेवाला ने 26/11 मुंबई हमले के दौरान का नरेंद्र मोदी का वीडियो दिखाया, जिसमें वो कांग्रेस सरकार की आलोचना कर रहे थे. कांग्रेस ने कहा कि जबकि हम सरकार के साथ खड़े थे. संकट की इस घड़ी में देश शहीदों के साथ हैं और आतंकियों के खिलाफ निर्णायक करवाई की मांग कर रहा है, लेकिन मोदी और शाह इस पर राजनीति कर रहे हैं.

कांग्रेस ने कहा कि हमने पहले भी पाक को सबक सिखाया है. 1971 में पाक को करारा जवाब दिया था. इंदिरा गांधी ने शिकस्त दी. जबकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए सत्ता की लालसा शहीदों के सम्मान से बड़ी है. वो सत्ता की भूख में शहादत को भी भूल गए. उदाहारण के तौर पर कांग्रेस ने बताया कि मोदी ने 26/11 हमले के तुरन्त बाद मुंबई में भाषण दिया था. रक्तरंजित इश्तेहार देकर दो दिन बाद ही वोट बटोरने की कोशिश कर रहे थे. शहादत के अपमान का उदाहरण मोदी ने पेश किया. ऐसा कोई उदाहरण संसार में नहीं है.