राहुल गांधी ने मोदी को बताया ‘प्राइम टाइम मिनिस्टर’, कहा-शहादत के वक्त दरिया में करा रहे थे फोटोशूट

0
277

सेंट्रल डेस्क: पुलवामा में हुए आतंकी हमले के दिन पीएम मोदी की दिनचर्या को लेकर दूसरे दिन भी आरोप-प्रत्यारोप जारी है. कांग्रेस ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला करते हुए सवाल उठाया कि पुलवामा हमले के तुरंत बाद क्या कर रहे थे. दूसरे दिन राहुल गांधी ने भी निशाना साधा. कांग्रेस ने लगातार दूसरे दिन सवाल किया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हमले के दो घंटे बाद उत्तराखंड के रुद्रपुर जिले में रैली को संबोधित करते हुए हमले व इसके पीड़ितों का उल्लेख करने में विफल क्यों रहे कांग्रेस प्रवक्ता मनीष तिवारी ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, “हम प्रधानमंत्री से जानना चाहते हैं कि वह अपरान्ह 3.10 (जब पुलवामा में हमला हुआ) से 5.10 के बीच क्या कर रहे थे. 4.40 बजे उन्होंने मोबाइल फोन से एक रैली को संबोधित किया. जहां तक हमारी जानकारी है, उन्होंने एक बार भी हमले का उल्लेख नहीं किया.”

मनीष तिवारी ने प्रधानमंत्री के डीडी न्यूज के एक वीडियो को साक्ष्य के तौर पर पेश किया.उन्होंने कहा, “अगर उन्होंने पुलवामा हमले की निंदा की होती तो शहीदों को श्रद्धांजलि अर्पित की होती..लेकिन ऐसा कुछ नहीं किया गया.”मनीष तिवारी ने कहा, “क्या वह (प्रधानमंत्री) 3.10 बजे से 5.30 बजे के बीच हमले से अंजान थे? या तो उनके कार्यालय द्वारा उन्हें सूचित नहीं किया गया था या उनसे संपर्क असंभव था. इसे सत्ता के शीर्ष पर संवाद की हालत का अंदाजा लगाया जा सकता है.”

राहुल ने यूं साधा निशाना
पार्टी नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला और मनीष तिवारी की ओर से सवाल उछाले जाने के बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी शुक्रवार को पीएम मोदी पर निशाना साधा. उन्होंने पीएम मोदी के नौका विहार और फोटो शूट की कुछ तस्वीरों के साथ ट्वीट करते हुए कहा- पुलवामा में 40 जवानों की शहादत की खबर के तीन घंटे बाद भी ‘प्राइम टाइम मिनिस्टर’ फिल्म शूटिंग करते रहे.देश के दिल व शहीदों के घरों में दर्द का दरिया उमड़ा था और वे हँसते हुए दरिया में फोटोशूट पर थे.

बीजेपी ने आरोपों को नकारा
कांग्रेस के आरोपों पर बीजेपी की तरफ से जवाब देने केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद उतरे.उन्होंने कहा कि पांच दिन सरकार, रक्षा बल और देश के साथ खड़ा होने का दिखावा करने के बाद आज कांग्रेस ने असली चेहरा दिखा दिया. सारी दुनिया आज भारत के साथ खड़ी है. जब सेना का साहस मज़बूत है तब कांग्रेस सवाल उठा रही है.कांग्रेस सर्जिकल स्ट्राइक का सबूत मांगती है. जिसके नेता सेना प्रमुख पर घटिया आरोप लगते हैं. क्या कांग्रेस ने बहादुर निकिता क़ौल के सलाम को देखा है? हमारे पीएम के खिलाफ प लगाए गए. वे सरकारी कार्यक्रम में गए थे.

उन्होने कहा कि कांग्रेस को पता था कि पुलवामा में हमला होने वाला है, हमें नहीं पता था. देश में शोक है. हम सारे मंत्री गए, हमारे नेता गए अंतिम संस्कार में लेकिन देश चलना चाहिए, देश झुकना नहीं चाहिए. पार्टी के सारे कार्यक्रम तीन दिन के लिए स्थगित कर दिए गए. बाकी देश चलना चाहिए. आतंकवादी को ये संदेश नहीं जाना चाहिए कि झुका दिया. मोदी की अगुवाई में देश न झुकेगा, न रुकेगा.उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया पर राहुल का वीडियो वायरल है. वे पालम एयरपोर्ट पर शहीदों के सामने मोबाइल पर देख रहे थे. कांग्रेस देश की एकता व संकल्प को कमजोर न करे. कांग्रेस सेना का मनोबल न तोड़े. देश नरेंद्र मोदी पर विश्वास करता है. उनके नेतृत्व में विश्वास करता है. इमरान खान के स्वर और कांग्रेस के प्रवक्ताओं के स्वर एक समान हैं. कांग्रेस के बयान देख कर पाकिस्तान में ख़ुशी आई होगी.

देरी से मिली पीएम मोदी को सूचनाः सूत्र
पीएम मोदी को पुलवामा में हुए हमले की सूचना 25 मिनिट की देरी से मिली. इस पर उन्होंने एनएसए अजीत डोभाल को फोन करके नाराजगी जताई. डोभाल ने सुरक्षा एजेंसियों से स्पष्टीकरण मांगा है कि प्रधानमंत्री को यह सूचना देने में देर क्यों हुई?पीएम मोदी ने इसके बाद राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए), गृह मंत्री और जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल से बात की. रामनगर के गेस्ट हउस में पहुंचने के बाद उन्होंने पुलवामा हमले को लेकर एक बार फिर एनएसए, राज्यपाल और गृह मंत्री से बाद की. इस दौरान उन्होंने कुछ नहीं खाया.