जब देश पुलवामा के शहीदों को याद कर रहा तब वैलेंटाइन डे विश कर बुरे फंसे दिग्विजय

स्टेट डेस्क/भोपाल : वरिष्ठ कांग्रेस नेता व मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने लोगों को वैलेंटाइन डे की शुभकामनाएं दी हैं। हालांकि, अपने विश मेट उन्होंने चुटीले अंदाज में बांटने वाली राजनीति पर तंज कसा है। उन्होंने ट्विटर हैंडल पर लिखा-मेरे साथी देशवासियों और दोस्तों को वैलेंटाइन डे की शुभकामनाएं। प्यार, दया और और भाईचारे को नफरत, हिंसा और कटुता पर विजयी बनाएं।



चूंकि आज ही देश भर में पुलवामा के शहीदों को श्रद्धांजलि दी जा रही तभी दिग्विजय के इस ट्वीट पर हंगामा मच गया। सोशल मीडिया यूजर्स ने इसे लेकर दिग्विजय सिंह पर जमकर तंज कसा। कई लोगों ने पुलवामा हमले की बरसी का हवाला देते हुए कांग्रेस नेता पर निशाना साधा, तो कुछ और लोगों ने दिग्विजय के 64 की उम्र में शादी करने पर भी टिप्पणी कर दी।

एक ट्विटर यूजर सागर मल गुर्जर ने कहा-आछ्यो जन्मयो रे देश पुलवामा हमले में शहीद जवानों को श्रद्धांजलि दे रहे और तू वेलेंटाइन डे मना रहा। ट्विटर हैंडल @Apprpr1 ने लिखा, “कुछ लोग वैलेनटाइन को राष्ट्रीय उत्सव की तरह बधाई दे रहे व मना रहे हैं। जबकि सनातनी इस दिन को माता-पिता पूजन दिवस मना रहे हैं और सभी देशभक्त पुलवामा शहीदी दिवस। सिर्फ सोच ही आदमी को इंसान बनाती है। पुलवामा शहीदों को नमन व उनके माता पिता व परिवारजनों को भी नमन।

कई लोगों ने वैलेंटाइन डे को पश्चिमी सभ्यता का हिस्सा भी बताकर तंज कसा। यूजर अनिल पुंदिर ने कहा-हम पहले भारतीय हैं और भारतीयों की तर्ज पर वैलेंटाइन डे की हमारी संस्कृति में कोई जगह नहीं है। एक और यूजर ने महाराष्ट्र में कांग्रेस के साथ गठबंधन का हिस्सा बनी शिवसेना को घेरते हुए कहा- वैलेंटाइन मनाने पर महाराष्ट्र में शिवसेना तो लट्ठ लेकर नहीं भगाएगी इस बार?

दिग्विजय सिंह का यह ट्वीट कांग्रेस के गले का भी फांस बन गया। ट्विटर हैंडल @myindia1975 ने लिखा- कांग्रेस नेता भारत-विरोधी होते हैं। भारत को इसका अहसास 2014 से ही हो गया, तब तक आप लोग इस देश को एक परिवार की आड़ में खुले तौर पर लूट रहे थे। जाहिर है आपका प्रेम प्रसंग इसी दिन शुरू हुआ था। पर आज के दिन हमारे सैनिकों की शहादत भूल गए?