WORLD NEWS: फ्रांस में प्रधानमंत्री को लेडीज अंडरगारमेंट्स भेज रहे हैं लोग, जानिए पूरा माजरा

(सेंट्रलडेस्क, नयी दिल्ली )। फ्रांस के प्रधानमंत्री जीन कैस्टेक्स और उनका कार्यालय इस समय अजीबोगरीब स्थिति से रूबरू हो रहे हैं ।इससे उनके सामने उलझन की स्थिति है ।उनकी उलझन और परेशानी की वजह यह है कि लोग उन्हें लेडीज अंडरगारमेंट्स भेज रहे हैं ।ये पीएम के ऑफिस मेल के जरिए आ रहे हैं। सिर्फ इतना ही नहीँ सोशल मीडिया पर कई ऐसी तस्वीरें शेयर की जा रही हैं। जिसमें फ्रांसीसी पीएम को लिखी चिट्ठी के साथ महिलाओं की अंडरवियर दिखाई दे रही हैं।


इसका कारण यह बताया जा रहा है कि कोरोना संक्रमण के चलते फ्रांस के विभिन्न हिस्सों में कड़ाई के साथ लॉकडाउन लागू है। लॉक डॉउन के नियमों के तहत लोगों के घरों से निकलने और कहीं भी ज्यादा की संख्या में खड़े होने पर पाबंदी है। आवश्यक वस्तुओं की दुकानों को छोड़कर सभी व्यावसायिक प्रतिष्ठान बंद कर दिए गए हैं जिनमें लॉन्जरी स्टोर्स भी शामिल हैं । इन्हीं स्टोर्स के मालिकों ने पीएम को लेडीज अंडरगारमेंट्स भेज कर अपना विरोध प्रकट करना शुरू किया है। ऐसे ही लोगों द्वारा सोशल मीडिया पर कई ऐसी तस्वीरें शेयर की जा रही हैं, जिसमें फ्रांसीसी पीएम को लिखी चिट्ठी के साथ महिलाओं की अंडरवियर दिखाई दे रही हैं। इन चिट्ठियों में पीएम जीन कैस्टेक्स ने दुकानों और आउटलेट्स को खोलने की मांग की गई है।

उल्लेखनीय है कि फ्रांस की राजधानी पेरिस को दुनिया का फैशन कैपिटल माना जाता है। दुनिया के अधिकतर टॉप फैशन ब्रांड पेरिस से ऑपरेट करते हैं। ऐसे में लॉकडाउन लगने से उनके व्यापार पर बुरा असर पड़ रहा है। ब्रांडेड कपड़े लॉकडाउन के दौरान घोषित किए गए जरूरी सामान की लिस्ट में नहीं आते हैं । ऐसे में सरकार इन आउटलेट्स को खोलने की अनुमति भी नहीं दे सकती है। फ्रांस में लॉन्जरी स्टोर्स को गैर-आवश्यक व्यवसायों के रूप में वर्गीकृत किए जाने के बाद क्यूलोटी नाम के एक ग्रुप ऐक्शन ने पूरे फ्रांस में प्रदर्शन भी किया था।

लियोन में सिल्वेट लॉन्जरी स्टोर के मालिक और प्रोजेक्ट के क्रिएटर नथाली पारेडेस ने बताया कि हमारे विरोध प्रदर्शन में लॉन्जरी के 200 रिटेलर्स ने हिस्सा लिया है। हर किसी को विरोध स्वरूप पीएम को महिलाओं के अंडरवियर भेजने को कहा गया है। इसका मतलब जीन कैस्टेक्स के ऑफिस को कुल 200 पैंटी भेजे गए हैं। हर पैकेज के साथ क्यूलोटी संगठन ने पीएम जीन कैस्टेक्स से लॉकडाउन नियमों पर फिर से विचार करने का अनुरोध किया है। जिसमें लिखा है कि यह सच है कि हम सभी आवश्यक हैं, प्रधान मंत्री। छोटे और स्थानीय व्यवसाय कीमती हैं। वे स्थानीय अर्थव्यवस्था में योगदान करते हैं और हमारे समुदायों को जीवन देते हैं। जिसके बाद स्थानीय लोग भी इन बिजनेसमैन के समर्थन में आए हैं।