27.1 C
Delhi
HomeNewsभागलपुर : संभावित बाढ़ के लिए 121 नाव मालिकों से हुआ करार

भागलपुर : संभावित बाढ़ के लिए 121 नाव मालिकों से हुआ करार

- Advertisement -

भागलपुर/दिवाकर श्रीवास्तव। बाढ़ व सुखाड़ से निपटने और कोविड को लेकर की जा रही तैयारी की समीक्षा राजस्व व भूमि सुधार मंत्री सह प्रभारी मंत्री रामसूरत कुमार ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से की। इस दौरान प्रभारी मंत्री को बताया गया कि संभावित बाढ़ से निपटने के लिए मानक संचालन प्रक्रिया के अनुसार संबंधित विभाग आवश्यक कार्रवाई कर रहा है।

भौतिक सत्यापन के बाद 121 निजी नाव मालिकों के साथ एकरारनामा कर लिया गया है। बाढ़ की स्थिति में जरूरी सामग्रियों की उपलब्धता के मकसद से खाद्य सामग्री,पशु चारा,पॉलीथिन शीट्स, किट के लिए टेंडर की प्रक्रिया पूरी कर ली गई है। जल-जीवन-हरियाली अभियान के तहत किए जा रहे कामों से जलस्तर में सुधार हुआ है। साथ ही यह भी बताया गया कि पीएचईडी पूर्वी व पश्चिमी ने समेकित रूप से 1940 चापाकल को दुरुस्त कर लिया है। जल, जीवन, हरियाली अभियान के तहत 233 कुआं का जीर्णोद्धार हो चुका है।

इस दौरान कोविड-19 के तहत किए गए कामों की भी जानकारी दी गई है और संक्रमण दर में निरंतर कमी के बारे में बताया गया। वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान सांसद अजय कुमार मंडल, कहलगांव विधायक पवन कुमार यादव, पीरपैंती विधायक ललन कुमार, नाथनगर विधायक अली अशरफ सिद्दकी ने अपने सुझाव जिला प्रशासन को दिए।

यह भी पढ़ें…

इसके साथ ही प्रभारी मंत्री ने बाढ़ के दौरान निजी नाव को व्यवस्थित ढंग से चलाने, कार्ययोजना तैयार करने, दवाओं की उपलब्धता के भौतिक सत्यापन, आपदा संबंधी किए जा रहे कामों की जानकारी स्थानीय जनप्रतिनिधियों को देने और शहरी क्षेत्र में साफ-सफाई, जल जमाव की समस्या से निपटने के लिए किए जा रहे कामों में तेजी लाने का निर्देश दिया। वीडियो कांफ्रेंसिंग में डीएम सुब्रत कुमार सेन के अलावा एसएसपी नताशा गुड़िया, नवगछिया एसपी, डीडीसी व एडीएम समेत अन्य पदाधिकारी मौजूद थे।

- Advertisement -


- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -