30.1 C
Delhi
HomeNewsपूर्व सांसद धनंजय सिंह भगोड़ा घोषित, अजीत सिंह हत्याकांड में तलाश रही...

पूर्व सांसद धनंजय सिंह भगोड़ा घोषित, अजीत सिंह हत्याकांड में तलाश रही पुलिस

- Advertisement -

स्टेट डेस्क/दिवाकर श्रीवास्तव। लखनऊ के बहुचर्चित अजीत सिंह हत्याकांड में पूर्व सांसद बाहुबली धनंजय सिंह को भगोड़ा घोषित कर दिया है। लखनऊ कोर्ट ने 25 हज़ार के इनामी पूर्व सांसद धनंजय सिंह को भगोड़ा घोषित किया है।

धनंजय पर 25 हजार का इनाम घोषित है। धनंजय सिंह पर अजीत सिंह की हत्या की साज़िश रचने का आरोप है। इस मामले में लखनऊ पुलिस शूटर सहित कई लोगों को गिरफ्तार कर चुकी है। धनंजय की गिरफ्तारी के लिए कई बार दबिश दी गई लेकिन पुलिस गिरफ्तार करने में विफल रही थी।

धनंजय सिंह को गिरफ्तार करने का प्रयास कर रही है। वहीं दूसरी तरफ धनंजय सिंह आराम से रह रहा है। कुछ महीनों पहले ही वह एक अन्य मामले में जमानत कटवाकर जेल भी गया था लेकिन कुछ समय बाद ही उसकी जमानत हो गई और वह बाहर आ गया लेकिन लखनऊ पुलिस को नहीं मिला। लखनऊ पुलिस उसकी गिरफ्तारी के लिए उसके घर तक कई बार दबिश डाल चुकी है लेकिन उसके हाथ खाली ही हैं।

विदित हो कि लखनऊ में छह जनवरी को अजीत सिंह की हत्या हत्या कर दी गई थी। अजीत की पत्नी रानू सिंह ने मऊ में जौनपुर के पूर्व सांसद धनंजय सिंह, आजमगढ़ के माफिया कुंटू सिंह उर्फ ध्रुव सिंह, अखंड सिंह व गिरधारी विश्वकर्मा उर्फ डॉक्टर के खिलाफ लिखित तहरीर दी थी। मऊ पुलिस ने लखनऊ में वारदात होने के कारण उसे संबंधित थाने में देने की बात कहकर वापस भेज दिया। वहीं विभूतिखंड में अजीत के करीबी मोहर सिंह की तहरीर पर मुकदमा दर्ज कर लिया था।

अजीत सिंह की हत्या में गिरधारी का नाम आते ही पुलिस ने धनंजय की भूमिका की भी जांच शुरू कर दी थी और साक्ष्य प्रस्तुत करने पर लखनऊ की अदालत ने गिरफ्तार कर पेश करने का आदेश दिया। पूर्व सांसद धनंजय सिंह को गिरधारी के बयान के आधार पर अजीत सिंह हत्याकांड में आरोपी बनाया गया है। गिरधारी की बाद में पुलिस एनकाउंटर में मौत हो गई।

इसके साथ ही धनंजय पर एक घायल शूटर राजेश तोमर का लखनऊ और सुलतानपुर में इलाज कराने में मदद करने का भी आरोप है। अजीत हत्याकांड में आरोपित बनाए जाने के बाद धनंजय सिंह एक मामले में सरेंडर करके जेल भी गए और जमानत लेकर बाहर भी आ गए लेकिन पुलिस उनसे पूछताछ नहीं कर पाई। उनकी गिरफ्तारी के लिए कई बार तो ऐसा हुआ कि पुलिस की दबिश के कुछ देर पहले तक वह जौनपुर स्थित घर में ही मौजूद थे। अब माना जा रहा है कि धनंजय ने सरेंडर नहीं किया तो उनके खिलाफ कुर्की की कार्रवाई शुरू की जाएगी।

यह भी पढ़ें…

- Advertisement -



- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -