29.1 C
Delhi
HomeNewsबाढ़ से अब तिलावे का बांध टूटा, ढाका-बैरगनिया मुख्य पथ हुआ बाधित

बाढ़ से अब तिलावे का बांध टूटा, ढाका-बैरगनिया मुख्य पथ हुआ बाधित

- Advertisement -

मोतिहारी/राजन दत्त द्विवेदी। उत्तर बिहार व नेपाल के तराई इलाके में लगातार चार दिनों से हो रही बारिश के बाद जिले की नदियां उफान पर हैं। इसी क्रम में गत शुक्रवार को बंजरिया प्रखंड क्षेत्र में दुधौरा नदी का बांध टूटने से इलाके में बाढ़ का पानी तेजी से फैलने लगा, वहीं शनिवार की सुबह तिलावे नदी का बांध भी फुलवार पंचायत के समीप टूट गया।

इसके बाद बंजरिया, घोड़ासहन, ढाका, पताही प्रखंड क्षेत्र के कई मुख्य सड़कों के ऊपर से बाढ़ का पानी बहने लगा है। सैकड़ों गांवों में बाढ़ की चपेट में आ गए हैं। लोग अब घर छोड़ ऊंचे स्थान पर शरण लेकर खुले आकाश के नीचे गुजर-बसर करने पर मजबूर हो गए हैं।

बता दें कि सिकरहना यानी बुढ़ी गंडक, तिलावे, दुधौरा, लालबकेया एवं बागमती नदी समेत उनकी सहायक नदियां खतरे के निशान के पार हो गई है। इससे बंजरिया, सुगौली, ढाका प्रखंड क्षेत्र के विभिन्न गाँव में बाढ़ का पानी सरेह तक फैल गया।

इससे कई सड़कों पर आवागमन भंग हुई है। शनिवार को ढाका-बैरगनिया मुख्य पथ के करमावा टोला सिरनी गांव के समीप सड़क के ऊपर से पानी का तेज बहाव होने लगा, जिससे आवागमन ठप हो गया। पिछले साल भी बाढ़ ने उक्त सड़क को क्षतिग्रस्त कर दिया था।

नेपाल की नदियों से उफ़नकर आया बाढ़ का पानी सीमावर्ती गाँव हीरापुर, बलुआ-गुआबारी, भवानीपुर, गुरहनवा, तेलहरा कला, दोस्तियां गांव के सरेह के रास्ते दर्जनों गांव में पानी प्रवेश कर गया। हालांकि प्रशासन लगातर बांध निरीक्षण करते हुए लोगो से सतर्क रहने की अपील कर रहा है। कुंडवा चैनपुर थाना क्षेत्र के गुरहनवा गाँव और बलुआ-गुआबारी एवं अमवाटोला-महंगुआ को जोड़ने वाली मुख्य सड़क बाढ़ की वजह से क्षतिग्रस्त हो गयी है, जहां आज शाम से जलस्तर अचानक बढ़ने लगा है।

यह भी पढ़ें….

- Advertisement -



- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -