31.1 C
Delhi
HomeNewsयूपी : ब्लॉक प्रमुख चुनाव के लिए आज होंगे नामांकन, 10 जुलाई...

यूपी : ब्लॉक प्रमुख चुनाव के लिए आज होंगे नामांकन, 10 जुलाई को होगा मतदान

- Advertisement -

स्टेट डेस्क/दिवाकर श्रीवास्तव। प्रदेश की 825 क्षेत्र पंचायतों में अध्यक्ष पद के चुनाव के लिए नामांकन पत्र गुरुवार को दाखिल किए जाएंगे। नौ जुलाई को नामांकन पत्रों की जांच और 10 जुलाई को मतदान होगा। राज्य निर्वाचन आयोग ने नामांकन से लेकर मतदान व मतगणना तक मतदान केंद्रों पर शांति एवं कानून व्यवस्था बनाए रखने के निर्देश दिए हैं।

गुरुवार को पूर्वाह्न 11 बजे से दोपहर तीन बजे तक नामांकन दाखिल किए जाएंगे। उसके बाद नामांकन पत्रों की जांच होगी। शुक्रवार कोपूर्वाह्न 11 बजे से दोपहर तीन बजे तक नामांकन वापस लिए जा सकेंगे। शनिवार को पूर्वाह्न 11 बजे से दोपहर तीन बजे तक मतदान होगा। मतदान के बाद मतगणना कर परिणाम घोषित किए जाएंगे।

जिला पंचायत अध्यक्ष चुनाव में बाजी मार चुकी भाजपा ने अब क्षेत्र पंचायत अध्यक्ष चुनाव में भी विपक्षी दलों का सफाया कर गांवों की सरकार पर पूरी तरह काबिज होने की रणनीति बनाई है। पार्टी ने क्षेत्र पंचायत अध्यक्ष के चुनाव में 20 से 30 फीसदी तक ब्लॉकों में अपने उम्मीदवारों के निर्विरोध निर्वाचन के लिए ताकत झोंक दी है। पार्टी की ओर से क्षेत्र पंचायत अध्यक्ष चुनाव के लिए बुधवार दोपहर सभी जिलों में उम्मीदवार घोषित कर दिए गए।

जिन ब्लॉकों में प्रत्याशी को लेकर स्थानीय सांसद-विधायक या जिलाध्यक्ष-विधायक के बीच विवाद ज्यादा था वहां पार्टी ने अपना अधिकृत उम्मीदवार नहीं उतारा है। पार्टी ने स्पष्ट संकेत दिए हैं कि जहां तक संभव हो पार्टी के उम्मीदवार का निर्विरोध निर्वाचन कराना है। मंत्रियों और पदाधिकारियों को प्रतिद्वंद्वी उम्मीदवार से संपर्क कर उन्हें नामांकन दाखिल नहीं करने के लिए समझाया जाए।

यदि कहीं पर पार्टी के ही कार्यकर्ता बगावत कर रहे हैं तो वरिष्ठ नेताओं और मंत्रियों से उनकी बात कराकर स्थिति को काबू में किया जाए। यदि प्रतिद्वंद्वी उम्मीदवार नामांकन दाखिल भी करते हैं तो नौ जुलाई तक उनसे नामांकन वापसी का प्रयास कराने की कोशिश की जाएगी। भाजपा ने प्रदेश में करीब छह सौ से अधिक क्षेत्र पंचायतों में अध्यक्ष पद का चुनाव जीतने का लक्ष्य रखा है।

इस बीच सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि जिला पंचायत अध्यक्ष के बाद ब्लॉक प्रमुख चुनाव में भी भाजपा मनमानी कर रही है। भाजपा ने लोकतंत्र का खुलकर मजाक बना दिया है। सदस्यों को डराया धमकाया जा रहा है।अखिलेश ने कहा कि प्रदेश में भाजपा के मुकाबले सपा के ज्यादा जिला पंचायत सदस्य जीते थे। लेकिन, भाजपा ने धन बल, छल-बल और जिला प्रशासन के द्वारा जीते हुए जिला पंचायत सदस्यों पर उत्पीड़न की कार्रवाई कर हारी बाजी को जीत में बदला। अब भाजपा ब्लॉक प्रमुखों के चुनाव में वही कहानी दोहराना चाहती है। 

यह भी पढ़ें…

- Advertisement -



- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -