28.1 C
Delhi
HomePoliticsबहुजन समाज पार्टी अयोध्या में करेगी ब्राह्मणों का मंडलीय सम्मलेन

बहुजन समाज पार्टी अयोध्या में करेगी ब्राह्मणों का मंडलीय सम्मलेन

- Advertisement -

स्टेट डेस्क/दिवाकर श्रीवास्तव। यूपी में विधानसभा चुनाव को लेकर सियासी सरगर्मी तेज है। बसपा सुप्रीमो मायावती पार्टी को मजबूत करने जुट गई हैं। मिशन 2022 को लेकर ब्राह्मणों को जोड़ने के लिए दांव खेलने की तैयारी चल रही है।

बहुजन समाज पार्टी की राष्ट्रीय अध्यक्ष मायावती ने मीडिया से कहा कि उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ब्राह्मणों का उत्पीड़न कर रही है। मुझे पूरी उम्मीद है कि ब्राह्मण अगले विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी को अपना वोट नहीं देंगे। हम बसपा महासचिव एससी मिश्रा के नेतृत्व में एक अभियान जुलाई में अयोध्या से शुरू करने जा रहे हैं, जिससे ब्राह्मण समुदाय को जोड़ा जा सके और उन्हेंं विश्वास दिलाया जा सके कि उनके सभी प्रकार के हित बसपा शासन में ही सुरक्षित हैं।

बसपा ब्राह्मणों का मंडलीय सम्मेलन करने जा रही है। इसकी जिम्मेदारी राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्रा को सौंपी गई है। इसकी शुरुआत 23 जुलाई को अयोध्या से होगी। सतीश चंद्र मिश्रा अयोध्या में मंदिर दर्शन से ब्राह्मणों को साधने की कवायद शुरू करेंगे। पहले चरण में 23 जुलाई से 29 जुलाई तक लगातार छह जिलों में सम्मेलन किए जाएंगे।

बसपा सुप्रीमो ने विधानसभा चुनाव को देखते हुए बूथ गठन के काम को तेजी से पूरा करने का निर्देश दिया है। बूथ गठन की जिम्मेदारी पहले जिलाध्यक्ष देख रहे थे। मायावती ने अब मुख्य सेक्टर प्रभारियों को भी इसके काम में लगा दिया गया है। मुख्य सेक्टर प्रभारी स्वयं अपने प्रभार वाले जिलों में जाकर अपनी देखरेख में बूथ गठन का काम पूरा कराएंगे। अगस्त तक हर हाल में बूथ गठन का काम पूरा कराने की जिम्मेदारी मुख्य सेक्टर प्रभारियों को सौंपी गई है।

इसके साथ ही भाईचारा कमेटियों को एक बार फिर से सक्रिय करने का निर्देश दिया गया है। भाईचारा और ब्राह्मणों को पार्टी के साथ जोड़ने की जिम्मेदारी बसपा के राष्ट्रीय महासचिव सतीश चंद्र मिश्र को दी गई है। भाईचारा कमेटियों के गठन का काम भी जल्द पूरा करने का निर्देश दिया गया है। वर्ष 2007 के चुनाव में भाईचारा कमेटियों ने बसपा के पक्ष में माहौल बनाने का काम किया था। इसीलिए एक बार फिर से इन कमेटियों को गठित करते हुए सक्रिय करने का निर्देश दिया गया है।

जानकारों के मुताबिक सेक्टर गठन, बूथ गठन और भाईचारा कमेटियों के गठन की समीक्षा बसपा सुप्रीमो अगस्त के दूसरे हफ्ते में करेंगी। मुख्य सेक्टर प्रभारियों से इस बैठक में रिपोर्ट ली जाएगी। इसके आधार पर संगठन की मजबूती परखी जाएगी और जरूरी सुधार के भी निर्देश दिए जाएंगे। बसपा सुप्रीमो इन दिनों लखनऊ में ही हैं और विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुटी हुई हैं।

यह भी पढ़ें….

यह भी देखें…

- Advertisement -



- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -