13.1 C
Delhi
HomePoliticsयूपी चुनाव : अब 40 लाख रुपये तक खर्च कर सकेंगे उम्मीदवार

यूपी चुनाव : अब 40 लाख रुपये तक खर्च कर सकेंगे उम्मीदवार

- Advertisement -

सेंट्रल डेस्क/दिवाकर श्रीवास्तव। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में प्रचार खर्च की सीमा बढ़ा दी गई है। देश के पांच राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर निर्वाचन आयोग ने आज प्रेस कॉन्फ्रेंस में इसका ऐलान किया। मुख्य निर्वाचन आयुक्त सुशील चंद्रा ने घोषणा की कि इस बार यूपी विधानसभा चुनाव में सियासी दलों के प्रत्याशी 40 लाख रुपये तक की रकम खर्च कर सकेंगे।

मुख्य निर्वाचन आयुक्त ने चुनाव के दौरान कोरोना को लेकर बरती जाने वाली सावधानियों के बारे में भी बताया। उन्होंने बताया कि इस बार के विधानसभा चुनावों में पांचों राज्यों में कुल 18.34 करोड़ मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। यूपी की 403 विधानसभा सीटों समेत कुल 690 सीटों के लिए चुनाव कराए जाएंगे। इन चुनावों में 24.9 लाख वोटर पहली बार मतदान करेंगे।

मुख्य चुनाव आयुक्त सुशील चंद्रा ने बताया कि कोरोना पिछले दो साल से हमारे लिए बड़ी चुनौती बना रहा है। इसके मद्देनजर चुनाव में कोरोना गाइड लाइंस का सख्ती से पालन करवाते हुए मतदान करवाया जाएगा। इसके लिए नए प्रोटोकॉल लागू किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि समय पर चुनाव करवाना आयोग की जिम्मेदारी है और ओमिक्रॉन के बढ़ते मामलों के बीच आयोग ने स्वास्थ्य विभाग, प्रशासन और पुलिस विभाग के अधिकारियों के साथ कई दौर की मीटिंग की हैं।

इससे पहले 2017 में हुए चुनावों के दौरान आयोग ने हर उम्मीदवार की खर्च सीमा को 28 लाख रुपये रखा था। लेकिन, इस बार इसे बढ़ाकर 40 लाख रुपये कर दिया गया है। इसके साथ ही मुख्य चुनाव आयुक्त सुशील चंद्रा ने कहा कि उम्मीदवारों को अपने आपराधिक केसों की जानकारी देना जरूरी होगा।बताया जा रहा है कि कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए ये सीमा बढ़ाई गई है। उम्मीदवारों को नए व तकनीकी तरीकों से अपने मतदाताओं तक पहुंचना पड़ सकता है जो कि कुछ खर्चीला हो सकता है।

यह भी पढ़ें…

चुनाव आयुक्त ने बताया कि कोरोना के चलते पोलिंग बूथों की संख्या भी 16 प्रतिशत बढ़ाई गई है। दो लाख से ज्यादा पोलिंग बूथों पर मतदान की व्यवस्‍था की गई है। इस बात का खास ध्यान रखा गया है कि सभी पोलिंग बूथ ग्राउंड फ्लोर पर ही हों। चंद्रा ने बताया कि उत्तर प्रदेश में 29 प्रतिशत महिला मतदाताओं की संख्या बढ़ी है। इसी को ध्यान में रखते हुए बूथों में महिला कर्मचारियों की नियुक्ति की गई है, जिससे महिलाओं को वोट डालने में कोई परेशानी नहीं हो। सभी पोलिंग बूथों पर व्हील चेयर और एंबुलेंस की व्यवस्‍था रहेगी।

- Advertisement -






- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -