39.1 C
Delhi
Homeस्पोर्ट्सअपील: शहीद के परिजनों को कम से कम 5 करोड़ रुपये दे...

अपील: शहीद के परिजनों को कम से कम 5 करोड़ रुपये दे BCCI- सीके खन्ना

- Advertisement -spot_img

स्पोर्ट्स डेस्क: जम्मू कश्मीर के पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर गुरुवार को हुए आतंकी हमले के बाद देश में गम और गुस्से का माहौल है। देश के कोने-कोने में इस हमले का विरोध किया जा रहा है। लोग शहीद जवानों के परिजनों के लिए अपने तरीके से आर्थिक मदद के लिए आगे भी आ रहे हैं। वहीं भारतीय क्रिकेट बोर्ड के कार्यवाहक अध्यक्ष सीके खन्ना ने प्रशासकों की समिति के प्रमुख विनोद राय लेटर लिखा है। उन्होंने अपील की है कि पुलवामा आतंकी हमले में मारे गए भारतीय सैनिकों की फैमिली को मदद के रूप में कम से कम 5 करोड़ रुपये दिए जाएं।

बीसीसीआई के कार्यवाहक अध्यक्ष सीके खन्ना ने रविवार को प्रशासकों की समिति के प्रमुख विनोद राय से अपील की कि पुलवामा आतंकी हमले में मारे गए भारतीय सैनिकों के परिवारों की मदद के लिए कम से कम पांच करोड़ रुपये स्वीकृत किए जाएं। भारत के पूर्व सलामी बल्लेबाज वीरेंदर सहवाग पहले ही घोषणा कर चुके हैं कि शहीदों के परिवार के बच्चे अगर आवेदन करते हैं तो उनके ‘सहवाग इंटरनेशनल स्कूल’ में उन्हें मुफ्त शिक्षा मुहैया कराई जाएगी।


विदर्भ की सीनियर टीम ने भी घोषणा की कि वे अपनी ईरानी कप ट्रॉफी जीत की पूरी इनामी राशि शहीदों के परिवारों के कल्याण के लिए दान करेंगे। खन्ना ने सीओए, पदाधिकारियों और राज्य इकाइयों को लिखे पत्र में कहा, ‘हम दुखी हैं और अपने साथी भारतीयों के साथ मिलकर घृणित पुलवामा आतंकी हमले की निंदा करते हैं। शहीद सैनिकों के परिवारों के प्रति हमारी संवेदना है।’

बीसीसीआई के कार्यवाहक अध्यक्ष ने लिखा, ‘मैं प्रशासकों की समिति से आग्रह करता हूं कि बीसीसीआई को उपयुक्त सरकारी एजेंसियों के जरिए शहीद सैनिकों के परिवारों के लिए कम से कम पांच करोड़ रुपये का योगदान देना चाहिए।’ खन्ना ने साथ ही राज्य संघों और आईपीएल फ्रैंचाइजियों से भी अपील की कि वे इसमें खुले दिल से योगदान दें।


उन्होंने कहा, ‘मैं राज्य संघों और संबंधित इंडियन प्रीमियर लीग फ्रैंचाइजी मालिकों से भी आग्रह करूंगा कि वे इस नेक काम में योगदान दें।’ खन्ना ने साथ ही आग्रह किया कि भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच सीरीज के पहले मैच और आईपीएल के पहले मैच से पूर्व शहीदों की स्मृति में दो मिनट का मौन रखा जाए।

- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -