भारतीय गेंदबाजों के जलवे से दूसरा टेस्ट भारत की पकड़ में

-पहली पारी के आधार पर टीम इंडिया को 195 व कुल बढ़त 249 रन की
-अश्विन ने पहली पारी में 43 रन देकर 5 विकेट झटके



स्टेट डेस्क/चेन्नई : भारत और इंग्लैंड के बीच खेले जा रहे दूसरे टेस्ट मैच के दूसरे दिन का खेल समाप्त हो चुका है। दिन का खेल खत्म होने तक भारत ने अपनी दूसरी पारी में एक विकेट के नुकसान पर 54 रन बना लिए हैं। फिलहाल, रोहित शर्मा 25 और चेतेश्वर पुजारा सात रन बनाकर नाबाद थे। दूसरे दिन टीम इंडिया ने पहली पारी में 329 रन बनाए। रोहित शर्मा ने 161 रन की पारी खेली। इसके जवाब में इंग्लैंड की टीम महज 134 रन पर सिमट गई। इस तरह पहली पारी के आधार पर टीम इंडिया को 195 रन की बढ़त हासिल हुई, जबकि कुल बढ़त 249 रन की हो गई है। रविचंद्रन अश्विन ने पहली पारी में 43 रन देकर पांच विकेट चटकाए। अश्विन के पंजे की बदौलत भारत ने पहली पारी में इंग्लैंड को सस्ते में समेटा।

दरअसल, भारत ने सुबह छह विकेट पर 300 रन से आगे खेलना शुरू किया और 29 रन जोड़कर अपने बाकी बचे चारों विकेट गंवाए। ऋषभ पंत 77 गेंदों पर 58 रन बनाकर नाबाद रहे। चेपॉक की पिच पर बल्लेबाजी करना आसान नहीं है और दूसरे दिन कुल 217 रन बने और इस बीच 15 विकेट गिरे। भारत ने दूसरी पारी में शुभमन गिल (14) का विकेट गंवाया, जिन्होंने जैक लीच की LBW की सफल अपील पर रिव्यू गंवाया लेकिन पहली पारी के शतकवीर रोहित शर्मा (नाबाद 25) ने डीआरएस का सफल उपयोग करके अपना विकेट बचाने में सफल रहे। पहली पारी में हाथ में चोट लगने के कारण फील्डिंग नहीं कर पाने वाले चेतेश्वर पुजारा सात रन बनाकर खेल रहे हैं। इशांत के साथ गेंदबाजी का आगाज करने वाले अश्विन ने 29वीं बार पारी में पांच या इससे अधिक विकेट लिए। 

इंग्लैंड के बल्लेबाजों के पास उनकी बलखाती गेंदों का कोई जवाब नहीं था। भारत इस बीच केवल डीआरएस के मामले में बैकफुट पर रहा। उसने अपने तीनों रिव्यू गंवाये। बल्लेबाजी के लिए मुश्किल पिच पर विकेटकीपर बल्लेबाज बेन फॉक्स (नाबाद 42) को छोड़कर इंग्लैंड का कोई भी बल्लेबाज भारतीय स्पिनरों को विश्वास के साथ नहीं खेल पाया। उसने लंच से पहले ही 39 रन पर चार विकेट गंवा दिए थे। दूसरे सत्र में भी उसके चार बल्लेबाज पवेलियन पहुंचे जबकि चाय के विश्राम के बाद उसकी पारी सिमटने में देर नहीं लगी। इशांत ने रोरी बर्न्स (0) को आउट करके भारत को पहली सफलता दिलाई। दूसरे सलामी बल्लेबाज डॉम सिब्ले (16) आउट होने वाले अगले बल्लेबाज थे। अश्विन की गेंद पर कप्तान विराट कोहली ने लेग स्लिप में उनका कैच लिया। यहां पर भारत का रिव्यू सही साबित हुआ था। 

पहले टेस्ट मैच में इंग्लैंड की जीत के हीरो रहे जो रूट (6) का महत्वपूर्ण विकेट अपना पहला टेस्ट मैच खेल रहे अक्षर पटेल ने लिया। इंग्लैंड के कप्तान ने टर्न लेती गेंद पर स्वीप करने का प्रयास किया और शॉर्ट फाइन लेग पर अश्विन को आसान कैच थमाया। अश्विन ने लंच से ठीक पहले डैन लॉरेन्स (9) को शार्ट लेग पर शुभमन गिल के हाथों कैच कराया और फिर दूसरे सत्र के शुरू में बेन स्टोक्स (18) को कोण लेती गेंद पर चकमा देकर बोल्ड किया। 

मोहम्मद सिराज ने सवदेश में अपनी पहली गेंद पर ही ओली पोप (22) का विकेट लेकर फॉक्स के साथ उनकी 35 रन की साझेदारी तोड़ी। पंत अपनी बाईं तरफ डाइव लगाकर उनका शानदार कैच लिया। अश्विन और पटेल के दोबारा आक्रमण पर आने के बाद इंग्लैंड पर फालोऑन का संकट मंडरा दिया था। पटेल के दूसरे स्पैल की पहली गेंद ही मोईन अली (6) के बल्ले को चूमकर पंत के थाई पैड से टकरागर हवा में उछली जिसे स्लिप में अंजिक्य रहाणे ने बड़ी खूबसूरती में कैच में बदल डाला। अश्विन ने ओली स्टोन (एक) को चाय के विश्राम से ठीक पहले आसान कैच देने के लिये मजबूर किया और स्टुअर्ट ब्रॉड को बोल्ड करके अपना पांचवां विकेट लेने के साथ इंग्लैंड की पारी को समेट दिया।

  इससे पहले सुबह भारत ने अपने कल के स्कोर में जो 29 रन जोड़े उनमें से 25 रन पंत के बल्ले से निकले। उन्होंने इस बीच दो चौके और दो छक्के लगाए। इंग्लैंड के तेज गेंदबाज स्टोन ने 47 रन देकर तीन विकेट लिए। ऑफ स्पिनर मोईन (128 रन देकर 4 विकेट) उसके सबसे सफल गेंदबाज रहे लेकिन उन्होंने काफी रन लुटाए। लीच (78 रन देकर दो) और रूट (23 रन देकर एक) सफलता हासिल करने वाले अन्य गेंदबाज थे। 
भारत ने दिन के दूसरे ओवर में दो विकेट गंवाए जबकि मोईन ने तीन गेंद के अंदर अक्षर पटेल (5) और इशांत (0) को आउट किया।

इस मैच में वापसी करने वाले कुलदीप यादव भी खाता नहीं खोल पाए लेकिन उन्होंने 14 गेंदें खेली और पंत के साथ 24 रन जोड़ने में मदद की। इंग्लैंड ने 95.5 ओवरों में एक भी अतिरिक्त रन नहीं दिया। टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में यह इस तरह का चौथा मौका है।