जियो का जलवा : दिसंबर 2018 में 85 लाख से ज्यादा नए ग्राहक जोड़े, 2017 के मुक़ाबले दोगुनी बढ़त

0
95

सेंट्रल डेस्क : टेलीफोन रेग्युलेटरी ऑथरिटी ऑफ इंडिया यानी ट्राई के नए आंकड़ों के अनुसार जियो के ग्राहकों की संख्या बढ़कर 28.01 करोड़ हो गयी है. दिसम्बर 2018 में रिलायंस जियो ने कुल 85.6 लाख नए ग्राहक जोड़े हैं.

ट्राई के अनुसार दिसंबर 2018 तक देश में कुल वायरलेस फोन ग्राहकों की संख्या बढ़कर 117.6 करोड़ हो गयी है। विलय के बाद ग्राहक बेस के आधार पर नम्बर एक का खिताब हासिल करने वाली साझा कंपनी वोडा-आइडिया दिसम्बर 2018 में 23.32 लाख टेलीफोन उपभोक्ताओं को खोकर 41.87 करोड़ तक रह गयी है। आंकड़ों से पता चलता है कि भारती एयरटेल के ग्राहकों की कुल संख्या दिसंबर 2018 में घटकर 34.03 करोड़ हो गई है, जो कि नवंबर 2018 से 15.01 लाख कम है।

अब बात बिहार टेलीकॉम सर्किल के दो राज्यों बिहार झारखंड की जहाँ जियो ने दिसम्बर 2018 में 836513 नए ग्राहकों को जोड़कर 2 करोड़ का आंकड़ा पार कर लिया है। दिसम्बर 2018 में जियो के ग्राहकों की संख्या बढ़कर 20119506 हो गयी है जो नबम्बर 2018 में 19282993 थी। इतना कुछ होने के बाद भी बिहार सर्किल में टेलीफोन उपभोक्ताओं की संख्या आबादी के अनुपात में 62.23 फीसदी पहुँच सकी है। यह आंकड़ा देशभर में सबसे कम है।

रिलायंस जियो ने दिसम्बर 2017 के मुकाबले तकरीबन सौ फीसदी बढ़त हासिल की है। ट्राई के आंकड़े बताते हैं कि 31 दिसम्बर 2017 को जियो ग्राहकों की संख्या 10105860 थी। तब टेल्कम सेक्टर में बीएसएनल के अलावा रिलायंस कम्युनिकेशन, भारती एयरटेल, वोडाफोन, आइडिया, टाटा और एयरसेल जैसी कंपनियों की धाक थी। मगर अगले एक साल में टाटा और रिलायंस कम्युनिकेशन ने टेल्कम सेक्टर को अलबिदा कह दिया। वहीं वोडाफोन-आइडिया मर्जर के साथ एक कंपनी बनी और एयरसेल को अपनी दुकानदारी बंद करना पड़ी।

मुकेश अम्बानी की अगुवाई वाली कंपनी जियो टेल्कम सेक्टर में इंट्री के बाद से लगातार तीसरे साल अपनी बढ़त बनाए हुये है। देश में डेटा क्रांति का धमाका करनेवाली जियो ने दिग्गज दूरसंचार ऑपरेटरों वोडाफोन-आइडिया और भारती एयरटेल के ग्राहकों को अपना बनाती जा रही है। दूसरी ओर सरकारी स्वामित्व बीएसएनल को भी दिसम्बर 2018 की समीक्षावधि में बढ़त हासिल हुयी है।