27.1 C
Delhi
Homeट्रेंडिंगडुमरांवः पुराना भोजपुर के सौरभ नें पहली बार में बिहार प्रशासनिक सेवा...

डुमरांवः पुराना भोजपुर के सौरभ नें पहली बार में बिहार प्रशासनिक सेवा की परीक्षा में मारी बाजी

- Advertisement -

बक्सर/विक्रांत: सिमरी अंचल के नियाजीपुर के मूल निवासी हाल निवास पुराना भोजपुर निवासी डी.के.कालेज के पूर्व प्राचार्य डाॅ.सुरेन्द्र नाथ पाठक के पुत्र सौरभ कुमार नें बीपीएससी की 64वीं परीक्षा पहली बार में ही पास कर लिया। पहली बार में बीपीएससी परीक्षा में बाजी मारने वाले सौरभ कुमार की इस सफलता से उनके परिवार में खुशी का आलम कायम है।


जीवन परिचय- फिलवक्त कोलकता स्थित कस्टम विभाग में परीक्षक पदाधिकारी पद पर तैनात सौरभ कुमार गत दिनों यूपीएससी की परीक्षा में महज एक अंक से असफल हो गए थे। पिता डा. सुरेन्द्र नाथ पाठक माता प्रो. विनिता राधा के पुत्र बचपन से ही मेधावी थे। उन्होनें मैट्रिक की परीक्षा जवाहर नवोदय विद्यालय, इंटर की परीक्षा डीपीएस बक्सर से प्रथम श्रेणी में पास किया था। बाद में बेंगलूर से इंजिनियरिंग की परीक्षा पास कर स्लाईंग मिडीया में साफटवेयर डेवलेपर की नौकरी एवं कस्टम विभाग की नौकरी करने लगे।


पारिवारिक परिचय- सौरभ का परिवार शिक्षा जगत में सुमार है। बड़ी बहन कविता कुमारी राज हाईस्कूल में शिक्षिका के पद पर कार्यरत है। दुसरी ओर एक बड़े भाई सर्वज्ञ कुमार इंफोसिस में प्रबंधक के पद पर कार्यरत है। जब कि भाभी निधि देवी पाठक विप्रो में प्रबंधक, छोटी बहन प्रगति शिक्षिका एवं बहनोई डा.गौरव पाठक शिक्षक के पद पर विराजमान है। इस आशय की जानकारी सौरभ के पिता डी.के.कालेज के पूर्व प्राचार्य डा.सुरेन्द्र नाथ पाठक नें देते हुए बताया कि अपने बेटे की इस सफलता से काफी खुश हूं। वजह बेटा प्रशासनिक सेवा में जाने को लेकर काफी दिनों से आतुर था।

- Advertisement -


- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -