AK-47 पकड़े एक नकाबपोश व्यक्ति ने धनबाद के कारोबारियों, माननीयों और विधायक को दी धमकी

-बिना मैनेज किए काम करने वाले और विरोध करने वालों को AK- 47 से छलनी कर देने की चेतावनी



धनबाद/ नीतीश कुमार: कोयलांचल में एक वीडियो वायरल हो रहा है जिससे पुलिस समेत समाज के विभिन्न वर्गों में हड़कंप मच गया है ।जमशेदपुर के घाघीडीह जेल में बंद हार्डकोर अपराधी सुजीत सिन्हा गैंग ने धनबाद के कारोबारियों को धमकाना शुरू कर दिया है।

पहली बार इस गैंग ने वीडियो मैसेज भेज कर रंगदारी की मांग की है। साथ ही गैंग के रास्ते मे बाधा डालने पर एक विधायक को AK-47 से उड़ाने की धमकी दी गई है। बात दें कि कारोबारियों को धमकी पूर्व डिप्टी मेयर नीरज सिंह हत्याकांड के शूटर अमन सिंह के नाम पर दी जा रही है। अमन सिंह फिलहाल रांची के होटवार जेल में बंद है।

देश की कोयला राजधानी के नाम से मशहूर धनबाद में रंगदारी मांगने का खेल एक बार फिर से शुरू हो गया है। जमशेदपुर के घाघीडीह जेल में बंद सुजीत सिन्हा तथा रांची होटवार जेल में बंद अमन सिंह ने मिलकर अब रंगदारी वसूली का खेल शुरू कर दिया है। सुजीत तथा अमन गैंग का कुछ वीडियो भी वायरल हुआ है।

पहली बार मयंक सिंह के नाम से वीडियो मैसेज भेजा गया है। 2.49 मिनट के इस वीडियो में खुद को मयंक सिंह बताने वाला राजस्थान की टोन में हिन्दी बोल रहा है। वीडियो में चेहरे को काले नकाब से छिपाने वाले शख्स ने काली शर्ट और हल्की काली रंग की पैंट पहन रखी है। वह वीडियो में इत्मीनान से बोल रहा है। ऐसा प्रतीत हो रहा है कि सामने से उसे कोई लिखा हुआ संदेश दिखा रहा है और वह उसे पढ़ रहा है। उसके हाथ में एक एके 47 जैसा हथियार है। वहीं सामने के टेबल पर कई अत्याधुनिक हथियार और गोलियां रखी हुई हैं।

मयंक ने वीडियो की शुरुआत में कहा है कि धनबाद के तमाम कोयला व्यापारी, आउटसोर्सिंग कंपनियां, ट्रांस्पोर्टिंग कंपनियां और रेक लोडिंग की ट्रांस्पोर्टिंग करने वालों के लिए यह अंतिम चेतावनी है। जनवरी से आपका मीटर चालू हो गया है। बिना मैनेज किए काम करेंगे तो गोली खाने के लिए तैयार रहें। धनबाद में गैंग्स की पूरी जिम्मेवारी अमन सिंह को दी गई है। सभी को अमन सिंह से मैनेज करके काम करना होगा। जो भी हमारे खिलाफ जाएंगे या बिना मैनेज किए काम करेंगे वे लोग एके 47 से छलनी हो जाएंगे।

वहीं वीडियो में बिना किसी विधायक का नाम लिए मयंक ने कहा है कि यह वीडियो धनबाद के एक माननीय के लिए चेतावनी है। आप सोशल वर्क की आड़ में काफी दिनों से रंगदारी वसूल रहे हैं। अपने चमचों के माध्यम से व्यापारियों के बीच अनर्गल बातें पहुंचाते हैं। आप जो कर रहे हैं, अपना काम करें और गैंग के रास्ते में न आएं। नहीं तो मैं बता दूं कि हमारे एके 47 का बैरल आपकी ओर भी मुड़ेगा। जिस कारोबारी को लगता है बस माफिया और ऐसे माननीयों को पैसा देकर आप गैंग को नजर अंदाज कर देंगे या बगावत कर लेंगे, वे अब सावधान हो जाएं।

इस बाबत धनबाद के एसएसपी असीम विक्रांत मिंज ने कहा है कि वीडियो मैसेज की जानकारी मिली है। पुलिस वीडियो की जांच कर रही है। बौखलाहट में आकर इस तरह का संदेश भेजा जा रहा है। आरोपी जल्द पकड़े जाएंगे।

इस पूरे मामले पर धनबाद के सांसद पशुपतिनाथ सिंह ने झारखंड सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा है कि जब से झारखंड में सरकार बदली हैं, तब से अपराधियों की मनोबल काफी बढ़ गया हैं। झारखंड की यह सरकार पूरी तरह से फेल हैं। झारखंड सुरक्षित नही रह गया है।