31.1 C
Delhi
Homeट्रेंडिंगबिहार में अवैध शराब के कारोबार और जहरीली शराब कांड के बाद...

बिहार में अवैध शराब के कारोबार और जहरीली शराब कांड के बाद पुलिस अब एक्शन में दिखी

- Advertisement -spot_img

-शराब कारोबारियों के नाम और पहचान सोशल मीडिया पर डालेगी पुलिस
-शराब कारोबारियों के जमानदारो पर रहेगी पुलिस की नजर
-इलाके के शराब कारोबरियों की लिस्ट बनाने में जुट गई है बिहार के थानों की पुलिस
-थानों को शराब से जुड़े करोबारियों की ताबड़तोड़ गिरफ़्तारी का दिया गया सख्त टारगेट

वैशाली: शराबबंदी वाले बिहार में शराब को लेकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने अगले हफ्ते 16 नवम्बर को हाई लेवल मीटिंग और समीक्षा की बात कही है। मुख्यमंत्री ने शराब के अवैध कारोबार और इसमें लापरवाह कड़ियों पर बड़ी कार्रवाई का इशारा दिया है। मुख्यमंत्री के इस हाई लेवल मीटिंग से पहले पुलिस एक्शन मोड में दिख रही है।

हाजीपुर में जोनल आईजी गणेश कुमार ने अवैध शराब के कारोबार को लेकर एक हाई लेवल मीटिंग बुलाई है। जिले भर के पुलिस अधिकारियों के साथ SP और IG ने बैठक की। बैठक में शराब कारोबारियों पर कार्रवाई का ब्लू प्रिंट तैयार किया गया। बताया गया की इलाके के शराब कारोबारियों से अवैध कमाई करने वाले सफेदपोशो की पुलिस लिस्ट जारी करेगी और शराब कारोबार से जुड़े लोगो की लिस्ट और पहचान सोशल मीडिया और सुचना माध्यमों में डाला जाएगा। सभी थानों को अपने इलाके के शराब से जुड़े टॉप कारोबारियों की लिस्ट बनाने का निर्देश दिया गया है, जिसके बाद ऐसे शराब करोबारियों के नाम और पहचान पब्लिक में जारी होंगे।

ऐसे अवैध कारोबारियों की गिरफ्तारी के लिए थानों की पुलिस को सख्त निर्देश दिया गया है और जोनल IG गणेश कुमार ने कहा की ऐसे अवैध कारोबारियों की जल्द से जल्द गिरफ़्तारी के लिए थानों को टारगेट फिक्स कर दिया गया है।

बिहार में शराबबंदी के बीच 40 से ज्यादा मौतों:

शराबबंदी पर उठते सवालो और मुख्यमंत्री के सख्त तेवर के बाद पुलिस अब एक्शन मोड में आती दिख रही है। हाजीपुर में पुलिस की हाई लेवल मीटिंग और शराब कारोबार से जुड़े मामलो को लेकर पुलिस के बड़े अधिकारियों ने सख्त निर्देश जारी किया है। पुलिस के इस एक्शन मोड को देख कर यही लगता है की शराब से हुई मौतों से दागदार हुई छवि को क्लीन करने के लिए अब पुलिस एक्शन मोड में है।

- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -