बेजुबां मवेशियों के स्वास्थ्य की देखभाल के लिए जागरूकता अभियान दल का गठन

बक्सर/विक्रांत: बेजुबां मवेशियों के स्वास्थ की देख-भाल के लिए पशुपालन विभाग के निदेशालय द्वारा डुमरंाव स्थित पशुपालन विद्यालय को एम्बुलेंस प्रदान किया गया है। एम्बुलेंस मिलने के साथ ही पशुपालन विद्यालय के मुख्य अनुदेशक डा.फतेहुज्जमा ने ग्रामीणों के बीच बेजुबां मवेशियों के स्वास्थ की देख-भाल के लिए जागरूकता अभियान चलाए जाने का निर्णय लिया है।

मुख्य अनुदेशक द्वारा मवेशी बचाओ जागरूकता अभियान के संचालन को लेकर दो सदस्यीय चिकित्सको डा.कोर्नाक कुणाल एवं डा.संतोष कुमार के नेतृत्व में एक दर्जन ‘मैत्री‘ प्रशिक्षणार्थियों के दल का गठन किया गया है। मवेशी बचाओ जागरूकता दल के सदस्यों को ग्रामीण क्षेत्रों में भ्रमण करने के लिए रोस्टर चार्ट बनाया गया है। बेजुबां मवेशी(पशु) बचाओं अभियान का तात्पर्य पशुपालकों को मवेशियों के स्वास्थ खराब हो जाने पर चिकित्सक एवं अस्पताल का चक्कर लगाने से बचाना है।


जगरूकता दल का दायित्व- विभाग द्वारा मिले एम्बुलेंस के साथ रोज गांवों में जाकर मवेशियों (पशुओ) के स्वास्थ की देख भाल के लिए शिविर आयोजित कर पशुपालको को जागरूक करना है। शिविर में पशुपालको के बीच मवेशियों के स्वास्थ की देख-भाल को लेकर तकनिकी ज्ञान प्रदान करने मंे यथा मवेशियों के दूग्ध उत्पादन में वृद्धि, कृत्रिम गर्भाधान की विस्तृत जानकारी देने एवं मवेशियों को सही समय पर सिमेन प्रदान करना आदि शामिल है।


क्या कहते है अधिकारी- पशुपालन विभाग के निदेशालय से एम्बुलेंस प्राप्त होने के बावत पशुपालन विद्यालय के मुख्य अनुदेशक डा.फतेहुज्जमा ने जानकारी देते हुए बताया कि एम्बुलेंस प्रदान करने के पीछे विभाग का लक्ष्य पशुपालको को पशुओ के स्वास्थ की देख भाल �