Big news : उत्तर प्रदेश में कोरोना लॉक डाउन उल्लंघन के मुकदमें होंगे वापस


स्टेट डेस्क/लखनऊ : उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने महत्वपूर्ण फैसला लेते हुए उन लोगों को बड़ी राहत दी है जिन पर कोरोना के दौरान लॉक डाउन के नियमों का उल्लंघन करने के आरोप में मुकदमे कायम किये गए हैं । इस निर्णय के तहत आम लोगों पर दर्ज इस आशय के मुकदमें सरकार वापस लेगी । इससे लगभग ढाई लाख लोगों को राहत मिलेगी । इसके साथ ही उत्तर प्रदेश ऐसा पहला राज्य बन गया है जो लॉक डाउन उल्लंघन के मुकदमे वापस ले रहा है ।

उल्लेखनीय है कि सरकार ने कोरोना महामारी से निपटने के लिए देशभर में लॉकडाउन लागू कर किया था। लॉकडाउन का सख्ती से पालन कराने के लिए कड़े नियम लागू किये गए थे । इनका उल्लंघन करने वालों पर मुकदमे दर्ज कर कानूनी शिकंजा भी कसा गया था.अब लॉकडाउन उल्लंघन से जुड़े मामलों को लेकर प्रदेश सरकार ने बड़ा फैसला किया है.

योगी सरकार लॉकडाउन उल्लंघन से जुड़े मामले वापस लेगी। साथ ही सरकार ने कुछ दिन पहले व्यापारियों के खिलाफ दर्ज किए गए मामले भी वापस लेने के निर्देश दिए हैं। कहा जा रहा है कि सरकार के इस फैसले से उत्तर प्रदेश के करीब ढाई लाख लोगों को राहत मिलेगी।यूपी के करीब ढाई लाख लोगों को कोर्ट और थाने के चक्कर नहीं काटने पड़ेंगे.

लॉकडाउन के दैरान महामारी एक्ट लागू था. लॉकडाउन के उल्लंघन से जुड़े मामलों में पुलिस ने धारा 188 के तहत मामले दर्ज किए थे. सरकार ने कोरोना प्रोटोकॉल तोड़ने और लॉकडाउन के उल्लंघन से जुड़े मामलों में दर्ज केस वापस लेने के निर्देश दे दिए हैं इस फैसले से आम जनता और व्यापारियों को राहत मिलेगी।

सरकार का मानना है कि इस फैसले से न्यायालय पर से मुकदमों का बोझ कम होगा।यूपी सरकार के मुकदमे वापस लेने का ऐलान करने के साथ ही यूपी ऐसा करने वाला पहला राज्य बन गया है. सरकार के कोरोना प्रोटोकॉल तोड़ने और लॉकडाउन के उल्लंघन से जुड़े मुकदमे वापस लेने के फैसले से आम जनता और व्यापारियों को राहत मिलेगी.