BIGNEWS :अनिल अंबानी के बेटे अनमोल का आंशिक लॉकडाउन पर फूटा गुस्सा, किया सवाल – गेमिंग, शूटिंग और रैली जारी तो कारोबार पर रोक क्यों ?

-ट्वीट कर कहा – लॉकडाउन से सरकार छोटे व्यवसायों और दैनिक वेतन भोगियों को नुकसान पहुंचा रही है। इस तरह के प्रतिबंधों से स्वास्थ्य पर नियंत्रण नहीं होता बल्कि अर्थव्यवस्था पर बुरा असर पड़ता है।


सेंट्रलडेस्क/ नयी दिल्ली: देश के प्रमुख उद्योगपति में शुमार अनिल अम्बानी के बड़े बेटे अनमोल अंबानी ने सरकार द्वारा कोरोना से निपटने के लिए आंशिक (सेमी) लॉकडाउन लगाए जाने पर अपना गुस्सा जाहिर किया है। अपने ट्वीट में अनमोल ने कहा है कि आंशिक लॉकडाउन लगाकर सरकार छोटे व्यवसायों और दैनिक वेतन भोगियों को नुकसान पहुंचा रही।

इस तरह के प्रतिबंधों से स्वास्थ्य पर नियंत्रण नहीं होता बल्कि अर्थव्यवस्था पर बुरा असर पड़ता है। उल्लेखनीय है कि देश विभिन्न हिस्सों में कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ा रहे हैं। कुछ राज्यों में एहतियात के तौर पर नाइट कर्फ्यू के साथ ही सेमी-लॉकडाउन किया गया है। जिसके खिलाफ अनमोल अंबानी ने अपनी आवाज उठाई है।

रिलायंस कैपिटल लिमिटेड के 29 वर्षीय पूर्व कार्यकारी निदेशक अनमोल अंबानी ने ट्वीट कर सोशल मीडिया पर सेमी-लॉकडाउन को लेकर सवाल किया है। उनका कहना है कि इस तरह लॉकडाउन लगाकर सरकार छोटे व्यवसायों और दैनिक वेतन भोगियों को नुकसान पहुंचा रही हैं। इस तरह के प्रतिबंधों से स्वास्थ्य पर नियंत्रण नहीं होता बल्कि अर्थव्यवस्था पर बुरा असर पड़ता है।

उन्होंने ट्वीट करते हुए कहा है कि कोरोना संक्रमण के इस दौर में अभिनेता अपनी फिल्मों की शूटिंग जारी रख सकते हैं, प्रोफेशनल क्रिकेटर अपने खेल को देर रात तक खेल सकते हैं, राजनेता लोगों की भीड़ के साथ अपनी रैलियों को जारी रख सकते हैं, लेकिन आपका व्यवसाय या कार्य आवश्यक नहीं है। उन्होंने पहले भी इस तरह के प्रतिबंधों के विरोध में आवाज उठाई थी।

अनमोल का कहना है कि ये लॉकडाउन हमारे समाज और अर्थव्यवस्था की रीढ़ की हड्डी को नुकसान पहुंचा रहे हैं। कोविड19 के बढ़ते मामलों को देखते हुए महाराष्ट्र के कई शहरों में नाइट कर्फ्यू लगाया गया है और कई शहरों में वीक एंड लॉकडाउन का ऐलान किया गया है।