30.1 C
Delhi
Homeट्रेंडिंगबिहार: जनसंख्या नियंत्रण पर JDU और भाजपा में मतभेद

बिहार: जनसंख्या नियंत्रण पर JDU और भाजपा में मतभेद

- Advertisement -

पटना: उत्तर प्रदेश के बाद जनसंख्या नीति को लेकर बिहार में मांग तेज हो गई है। बिहार की नीतीश सरकार के भीतर ही नई बहस होने लगी है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के बयान से अलग डिप्टी सीएम रेणु देवी ने पुरुषों को जागरूक होने की अपील की है। वहीं बिहार के मंत्री ने नियम बनाने की मांग की है।

मंगलवार को बिहार के पंचायती राज मंत्री व बीजेपी एमएलसी सम्राट चौधरी ने कहा है कि दो से अधिक बच्चों वाले पंचायत चुनाव नहीं लड़ेंगे। इसको लेकर कानून में संशोधन पर पंचायती राज विभाग विचार कर रहा है। इसके अलावा मंत्री ने कहा कि यदि देश की आबादी पर कंट्रोल नहीं किया गया तो आने वाला समय काफी भयावह होगा।

पंचायती राज मंत्री ने कहा कि इस कानून बनाने को लेकर विचार किया जा रहा है, जो 2026 के चुनाव से लागू हो सकता है। नगर निकाय की तर्ज पर यह कानून बनाने पर विचार चल रहा है। साथ ही उन्होंने कहा कि 2021 में होने जा रहे पंचायत चुनाव में इस तरह का कोई प्रावधान नहीं रहेगा।

सम्राट चौधरी ने कहा कि यह बहुत स्‍पष्‍ट है कि इस देश में 200 प्रतिशत जनसंख्या नियंत्रण कानून लागू होना चाहिए। इसमें कोई दो मत नहीं। बिहार में पहले ही नगर निकाय में यह कानून लागू है। अब समय गया है कि इसे पंचयतों में भी लागू किया जाना चाहिए। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने ही कानून बनाया है, जो नगर निकायों में लागू है, तो आगे की कार्रवाई में दिक्कत थोड़े ही है।

- Advertisement -



- Advertisement -
- Advertisement -
- Advertisement -
Related News
- Advertisement -