बिहार विधानसभा : सदन में मंत्री ने तेजस्वी यादव को मुक्का दिखाया, हुआ बवाल

पटना : बिहार विधानसभा में गृह विभाग के बजट पर चर्चा हो रही है. बिहार विधानसभा में बजट सत्र में चर्चा के दौरान रोज हंगामा हो रहा है. मंत्रियों के हरक़त से रोज सदन शर्मसार हो रहा है. आज सदन में चर्चा के दौरान मुक्का दिखाने को लेकर काफी बवाल हुआ है. नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव और विपक्ष के नेताओं ने मंत्री के इस रवैये पर आपत्ति जताई है और राजद विधायक ने इस हरकत पर माफी मांगने की बात कही है. इस दौरान गन्ना मंत्री प्रमोद कुमार को खड़ा होकर आसान को यह स्पष्ट करना पड़ा कि किस संदर्भ में उन्होंने ऐसा किया.


दरअसल सदन में चर्चा के दौरान नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने नीतीश कैबिनेट पर सवाल खड़ा करते हुए ये कहा कि बिहार में 66 प्रतिशत दागियों ने नीतीश कुमार ने मंत्री बनाया है. इसपर विधानसभा अध्यक्ष ने तेजस्वी से पूछा कि ये आप कैसे कह सकते हैं. आपको सदन के पटल पर साक्ष्य पेश करना होगा कि ऐसी बात है या नहीं.

तेजस्वी ने इस दौरान मंत्री मुकेश सहनी का नाम लिए बिना ये कह दिया कि नीतीश कुमार ने ऐसे-ऐसी लोगों को मंत्री बना दिया है, जो चुनाव हारकर बैठे हैं. जो रिचार्ज कूपन पर चल रहे हैं. ऐसे भी मंत्री हैं, जो 9 महीने से दोनों में से किसी भी सदन के सदस्य नहीं हैं. तेजस्वी की इस बात पर मंत्री मुकेश सहनी ने कहा होकर कहा कि आजतक मैं कभी जेल नहीं गया हूं और न ही कोर्ट में गया हूं. 

मंत्री मुकेश सहनी के बोलने के बाद गन्ना मंत्री प्रमोद कुमार खड़े हो गए और उन्होंने मुक्का दिखाते हुए अपनी बात को रखा. इसपर विधानसभा अध्यक्ष ने भी उनसे पूछा कि क्या आप आसान को मुक्का दिखा रहे हैं. इस दौरान सदन में काफी हंगामा हो गया और नेता बातों से उलझ गए. सत्ता और विपक्ष की ओर से लोग बोलने लगे. 

विपक्ष के सदस्य गन्ना मंत्री प्रमोद कुमार से माफी मांगने की मांग करने लगे. राजद विधायक और सीनियर नेता अलोक मेहता ने कहा कि मंत्री प्रमोद कुमार ने अपने व्यवहार में यह दिखा दिया कि वह सदन की गरिमा को कहाँ ले जाना चाहते हैं. मंत्री ने नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव को मुक्का दिखाया. यह अशोभनीय है. मंत्री को पूरे सदन से माफी मांगनी चाहिए. 

हंगामा के दौरान विधानसभा अध्यक्ष ने मंत्री प्रमोद कुमार को यह स्पष्ट करने को कहा कि उन्होंने क्यों ऐसा किया. इसपर मंत्री ने अपनी बात रखते हुए कहा कि मैंने मुक्का नहीं दिखाया. बल्कि मंत्री मुकेश सहनी को पीठ में छुरा मारने की बात को याद दिलाया. मैंने मंत्री मुकेश सहनी की ओर से ही इशारा किया.